1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. Hiring outlook: 2020 के पहले 6 महीने में बरसेंगी नौकरियां, 71% कंपनियों ने जताई नई भर्तियों की उम्मीद

Hiring outlook: 2020 के पहले 6 महीने में बरसेंगी नौकरियां, 71% कंपनियों ने जताई नई भर्तियों की उम्मीद

उद्योग जगत इस साल के पहले 6 महीने में जमकर नौकरियां बांटने जा रहा है

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: February 04, 2020 14:48 IST
New Job Survey- India TV Paisa

New Job Survey

नई दिल्‍ली। रोजगार के मुद्दे पर सरकार के लिए राहत की खबर है। उद्योग जगत इस साल के पहले 6 महीने में जमकर नौकरियां बांटने जा रहा है। रोजगार को लेकर एक सर्वे की माने तो इस साल के पहले 6 महीने के दौरान 71 फीसदी कंपनियां नई भर्तिया करने जा रही है। इस दौरान सबसे ज्यादा नौकरियां एनालिटिक्स सेग्मेंट में मिलेंगी। वहीं आईटी  सेल्स और मार्केटिंग में भी जॉब की बरसात होने वाली है।

नौकरियों को लेकर ये रिपोर्ट नौकरी हायरिंग आउटलुक जनवरी-जून 2020 के नाम से पेश हुई है। साल में दो बार आने वाले इस सर्वे में इस बार देश भर से करीब 2400 कंपनियों ने हिस्सा लिया है।  सर्वे के मुताबिक 55 फीसदी कंपनियों का मानना है कि वो जून तक न केवल मौजूदा जॉब पोजीशन के लिए आवेदन मांगने जा रही हैं, साथ ही वो इस दौरान नई नौकरियां भी देंगीं। वहीं 26 फीसदी कंपनियों ने सिर्फ नई नौकरी और 13 फीसदी कंपनियों ने मौजूदा जॉब पोजीशन के लिए आवेदन मांगने का फैसला किया है। यानि कुल 94 फीसदी कंपनियां पहले 6 महीने में भर्तियां करेंगी। वहीं 71 फीसदी कंपनियों में जॉब के नए मौके भी मिलने जा रहे हैं।  सर्वे में सिर्फ 3 फीसदी कंपनियो ने माना है कि वो किसी तरह की कोई भर्ती नहीं करेगी। साथ ही सिर्फ 1 फीसदी कंपनियों ने माना को वो छंटनी करने जा रही हैं। 

नौकरी डॉट कॉम के चीफ बिजनेस ऑफिसर पवन गोयल के मुताबिक 6 महीने के दौरान सबसे ज्यादा नौकरी एनालिटिक्स सेग्मेंट में मिलेगी। सर्वे में शामिल 14 फीसदी कंपनियों ने इस सेग्मेंट के लिए नौकरी देने की बात कही है। इसके साथ ही आईटी, सेल्स और मार्केटिंग में भी नौकरियों को लेकर सकारात्मक संकेत बने हुए हैं। अगले 6 महीने के दौरान ऑफर होने वाली नौकरियों में अधिकांश नौकरियां 5 साल से कम अनुभव वाले कर्मचारियों के लिए है। इन 6 महीने के दौरान 3 से 5 साल के अनुभव वाले लोगों को ऑफर देने वाली कंपनियों का हिस्सा 62 फीसदी है। वहीं 1 से 3 साल के अनुभव वाले पेशेवर के लिए 51 फीसदी कंपनियों के पास नौकरियां हैं। 8 से 12 साल का अनुभव रखने वाले लोगों के लिए 30 फीसदी कंपनियों के पास नौकरियों के प्रस्ताव हैं। वहीं 12 साल से ज्यादा अनुभव वाले लोगों को 18 फीसदी कंपनियां जॉब ऑफर कर सकती है।  

इस दौरान 66 फीसदी कंपनियां मानती हैं कि नौकरी छोड़ने की दर 5 फीसदी या उससे ज्यादा रहेगी। इसमें से भी 40 फीसदी कंपनियां ये अनुमान 10 फीसदी से ज्यादा का रख रही हैं। कंपनियों का अनुमान है कि उनके यहां काम कर रहे 1 से 3 साल के अनुभव वाले 46 फीसदी लोग अपनी नौकरी बदल सकते हैं। पहले 6 महीने के दौरान वेतन में बेहतर बढ़ोतरी दर्ज हो सकती है। 60 फीसदी कंपनियों के मुताबिक लोगों के वेतन में 5 से 30 फीसदी तक बढ़त मिल सकती है। कंपनियों की सबसे बड़ी चिंता काबिल लोगों की कमी को लेकर है। उनके मुताबिक 1 से 5 साल अनुभव श्रेणी में काबिल लोगों की कमी से 80 फीसदी से ज्यादा कंपनियां जूझ रही हैं।  

Write a comment
coronavirus
X