1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. अब बैंकों में भी उपलब्‍ध होंगे NSC और मंथली इनकम स्‍कीम जैसे प्रोडक्‍ट्स, पोस्‍ट ऑफिस जाने की नहीं होगी जरूरत

अब बैंकों में भी उपलब्‍ध होंगे NSC और मंथली इनकम स्‍कीम जैसे प्रोडक्‍ट्स, पोस्‍ट ऑफिस जाने की नहीं होगी जरूरत

सरकार ने तीन निजी बैंकों समेत सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को NSC, RD और मंथली इनकम स्‍कीम जैसी लघु बचत योजनाओं के तहत जमा स्वीकार करने की अनुमति दे दी है।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: October 22, 2017 11:27 IST
अब बैंकों में भी उपलब्‍ध होंगे NSC और मंथली इनकम स्‍कीम जैसे प्रोडक्‍ट्स, पोस्‍ट ऑफिस जाने की नहीं होगी जरूरत- India TV Paisa
अब बैंकों में भी उपलब्‍ध होंगे NSC और मंथली इनकम स्‍कीम जैसे प्रोडक्‍ट्स, पोस्‍ट ऑफिस जाने की नहीं होगी जरूरत

नई दिल्ली सरकार ने बचत को प्रोत्साहन देने के लिए तीन बड़े निजी बैंकों समेत सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC), आवर्ती जमा (RD) और मासिक आय योजना (मंथली इनकम स्‍कीम) जैसी विभिन्न लघु बचत योजनाओं के तहत जमा स्वीकार करने की अनुमति दे दी है। ज्यादातर लघु बचत योजनाएं अब तक डाकघरों में ही मिलती रहीं हैं। एक हालिया सरकारी अधिसूचना के अनुसार, बैंक अब नेशनल सेविंग्स टाइम डिपॉजिट स्कीम 1981, राष्ट्रीय बचत मासिक आय खाता योजना 1987, राष्ट्रीय बचत आवर्ती जमा योजना 1981 और राष्ट्रीय बचत पत्र- 8 निर्गम आदि भी बेच सकते हैं।

यह भी पढ़ें : डाकघर जमा, पीपीएफ, केवीपी के लिए भी अब आधार जरूरी, सरकार ने बायोमीट्रिक पहचान संख्‍या को किया अनिवार्य

अधिसूचना में कहा गया कि तीन शीर्ष निजी बैंक ICICI बैंक, HDFC बैंक और एक्सिस बैंक समेत सभी सार्वजनिक बैंक इन विस्तृत पोर्टफोलियो के तहत अभिदान प्राप्त कर सकते हैं। अभी तक इन बैंकों को लोक भविष्य निधि (PPF), किसान विकास पत्र- 2014 (KVP), सुकन्या समृद्धि खाता और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना 2004 के तहत ही जमा राशि लेने की अनुमति दी गई थी।

पिछले महीने सरकार ने अक्तूबर-दिसंबर तिमाही के लिए लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर को अपरिवर्तित रखा था। पिछले साल अप्रैल से लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दर तिमाही आधार पर बदला जाने लगा है।

यह भी पढ़ें : सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्ड की खरीद दर 2,971 रुपए प्रति ग्राम हुई तय, ऑनलाइन पेमेंट करने वालों को मिलेगी छूट

लोक भविष्य निधि योजना (PPF) में निवेश पर फिलहाल सालाना 7.8 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलता है जबकि किसान विकास पत्र में निवेश पर 7.5 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जा रहा है। यह पत्र 115 माह में परिपक्‍व होता है। बालिका के लिए बचत को बढ़ावा देने वाली सुकन्या समृद्धि खाता योजना पर 8.3 प्रतिशत सालाना की दर से ब्याज दिया जा रहा है।

Write a comment
bigg-boss-13