न्यूजीलैंड के 41वें प्रधानमंत्री बने क्रिस हिपकिंस, विदा होते-होते अर्डर्न ने दिया बड़ा बयान

क्रिस हिपकिंस कोरोना महामारी के दौरान अपने मैनेजमेंट के चलते लोगों की नजरों में छा गए थे, लेकिन सरकार में सबसे ज्यादा चर्चा अर्डर्न को मिली थी।

India TV News Desk Edited By: India TV News Desk
Published on: January 25, 2023 8:37 IST
Chris Hipkins, Chris Hipkins New Zealand, Jacinda Ardern New Zealand- India TV Hindi
Image Source : AP क्रिस हिपकिंस न्यूजीलैंड के 41वें प्रधानमंत्री बने।

वेलिंगटन: जेसिंडा अर्डर्न की सरकार में शिक्षा मंत्री रहे क्रिस हिपकिंस ने न्यूजीलैंड के 41वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है। 44 साल के हिपकिंस अपनी पूर्ववर्ती जेसिंडा अर्डर्न की जगह लेने की दौड़ में शामिल एकमात्र उम्मीदवार थे। करीब 5.5 साल प्रधानमंत्री रहीं अर्डर्न ने गुरुवार को यह ऐलान कर अपने देश को चौंका दिया था कि वह अपने पद से इस्तीफा दे रही हैं। अब एक प्रधानमंत्री के रूप में इस टर्म में हिपकिंस के पास 8 महीने से भी कम का समय बचा है क्योंकि इसके बाद देश में आम चुनाव होगा।

कोरोना महामारी के दौरान नजरों में आए थे हिपकिंस

ओपिनियन पोल में हिपकिंस की लेबर पार्टी की स्थिति मुख्य प्रतिद्वंद्वी ‘नेशनल पार्टी’ से बेहतर है। वह कोरोना महामारी के दौरान अपने मैनेजमेंट के चलते लोगों की नजरों में छा गए थे, लेकिन सरकार में सबसे ज्यादा चर्चा अर्डर्न को मिली थी। अर्डर्न ने अपने कामकाज के चलते पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खींचा था। सिर्फ 37 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बनने वाली अर्डर्न की न्यूजीलैंड में हुई गोलीबारी की घटना और महामारी से निपटने के लिए दुनियाभर में प्रशंसा की गई, लेकिन देश में वह काफी राजनीतिक दबाव का सामना कर रही थीं।

अर्डर्न ने पीएम के तौर पर कई चुनौतियों का सामना किया
अर्डर्न ने एक प्रधानमंत्री के तौर पर कुछ ऐसी चुनौतियों को झेला, जिनका न्यूजीलैंड के नेताओं ने पूर्व में अनुभव नहीं किया था। इस बीच, महिला होने के कारण उनके खिलाफ कई ऑनलाइन टिप्पणियां की गईं और धमकियां दी गईं। अर्डर्न ने ऐलान किया था कि न्यूजीलैंड में अगला आम चुनाव 14 अक्टूबर को होगा और वह तब तक सांसद के रूप में काम करती रहेंगी। बता दें कि जेसिंडा अर्डर्न न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री के तौर पर मंगलवार को आखिरी बार सार्वजनिक रूप से सामने आयी थीं और कहा था कि वह सबसे ज्यादा जनता को याद करेंगी क्योंकि वे उनके लिए ‘नौकरी में खुश रहने’ की वजह थे।

‘मैं देश का भविष्य सुरक्षित हाथों में छोड़ रही हूं’
प्रधानमंत्री के रूप में आखिरी काम के तौर पर अर्डर्न रातना मैदान में आयोजित एक समारोह में हिप्किंस तथा अन्य सांसदों के साथ शामिल हुईं थीं। अर्डर्न ने पत्रकारों से कहा था कि हिप्किंस से उनकी दोस्ती करीब 20 साल पुरानी है और वह रातना मैदान तक आने के दौरान करीब 2 घंटे उनके साथ रहीं। हिप्किंस ने इस दौरान कहा था, ‘निश्चित तौर पर मैं, यह भूमिका संभालकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं लेकिन यह अच्छी तरह पता है कि जेसिंडा मेरी बहुत अच्छी मित्र हैं।’ वहीं, अर्डर्न ने कहा कि वह देश का भविष्य सुरक्षित हाथों में छोड़ रही हैं।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन