1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. विमान सब्सिडी को लेकर अमेरिका और यूरोपीय संघ में टकराव, जवाबी शुल्क लगाने की तैयारी

विमान सब्सिडी को लेकर अमेरिका और यूरोपीय संघ में टकराव, जवाबी शुल्क लगाने की तैयारी

फ्रांस के वित्त मंत्री ब्रूनो ली मेयर ने चेतावनी दी है कि एयरबस को सब्सिडी देने के मुद्दे पर अमेरिका ने यूरोपीय संघ (ईयू) के खिलाफ शुल्क लगाया तो यूरोपीय देशों का यह समूह जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 13, 2019 14:35 IST
Airbus- India TV
Airbus

फ्रांस के वित्त मंत्री ब्रूनो ली मेयर ने चेतावनी दी है कि एयरबस को सब्सिडी देने के मुद्दे पर अमेरिका ने यूरोपीय संघ (ईयू) के खिलाफ शुल्क लगाया तो यूरोपीय देशों का यह समूह जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है। साथ ही उन्होंने इस मसले का ‘सौहार्दपूर्वक समाधान’ निकालने की अपील की है। 

फ्रांसीसी मंत्री ने यहां अमेरिकी वित्त मंत्री स्टीवन म्यूचिन से मिलने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘यदि हमारे विरुद्ध अमेरिका की ओर से अनुचित और अतार्किक प्रतिबंध लगाए गए तो यूरोप भी एक जुट होकर करारा जवाब देने को तैयार है।’ हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि दोनों पक्षों के बीच परस्पर इस प्रकार की कोई भी व्यापारिक कार्रवाई आर्थिक वृद्धि तथा अमेरिका और यूरोप दोनों की आर्थिक वृद्धि के लिए बुरी होगी। 

उन्होंने कहा, ‘‘हमें इससे बचना होगा।..विश्व व्यापार संगठन के निष्कर्ष को देखते हुए मेरा मानना है कि अमेरिका और यूरोपीय संघ को एयरबस-बोइंग मामले के समाधान के लिए सौहार्दपूर्वक कोई समझौता करना चाहिए।’’ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को चेतावनी दी कि यूरोपीय संघ ने एयरबस को सब्सिडी देनी बंद न किया तो अमेरिका उसके उत्पादों के खिलाफ अपने यहां नए आयात शुल्क लगाएगा। 

अमेरिका और यूरोपीय संघ के बीच बोइंग और एयरबस को गैर कानूनी तरीके से सरकारी सहायता देने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप 14 साल से चला आ रहा है। 

यूरोपीय संघ के सूत्रों ने कहा कि वह बुधवार को कुछ अमेरिकी उत्पादों की सूची जारी करेगा जिनपर यूरोपीय संघ में आयात शुल्क लगाए जा सकते हैं। सूत्र ने संकेत दिया कि इससे अमेरिका से यूरोपीय संघ में आने वाले करीब 20 अरब डालर के उत्पाद का व्यापार प्रभावित होगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment