1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गैलरी
  4. बॉलीवुड
  5. PHOTOS: मशहूर फिल्ममेकर बासु चटर्जी के अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे परिजन

PHOTOS: मशहूर फिल्ममेकर बासु चटर्जी के अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे परिजन

India TV Hindi Photo Desk India TV Hindi Photo Desk
Updated on: June 04, 2020 18:12 IST
  • मशहूर फिल्ममेकर बासु चटर्जी का निधन हो गया। वे 93 साल के थे। बासु मुंबई में रहते थे और कुछ समय से बीमार थे। सुबह करीब 7:30 बजे सोते हुए ही उनका निधन हो गया। बासु ने 70 के दशक में कई शानदार फिल्में बनाईं। बासु चटर्जी ने शौकीन, खट्टा मीठा, चमेली की शादी, छोटी सी बात, बातों बातों में, रजनीगंधा जैसी कई खूबसूरत फिल्में बनाई हैं, बासु ने कॉमेडी को नया आयाम दिया था। बासु मिडिल क्लास की खूबसूरती और जीवन जीने की जद्दोजहद दिखाने वाले फिल्ममेकर थे। मुंबई के सांताक्रूज में बासु का अंतिम संस्कार किया गया, जहां परिवार के लोग मौजूद थे।
    Image Source : yogen shah

    मशहूर फिल्ममेकर बासु चटर्जी का निधन हो गया। वे 93 साल के थे। बासु मुंबई में रहते थे और कुछ समय से बीमार थे। सुबह करीब 7:30 बजे सोते हुए ही उनका निधन हो गया। बासु ने 70 के दशक में कई शानदार फिल्में बनाईं। बासु चटर्जी ने शौकीन, खट्टा मीठा, चमेली की शादी, छोटी सी बात, बातों बातों में, रजनीगंधा जैसी कई खूबसूरत फिल्में बनाई हैं, बासु ने कॉमेडी को नया आयाम दिया था। बासु मिडिल क्लास की खूबसूरती और जीवन जीने की जद्दोजहद दिखाने वाले फिल्ममेकर थे। मुंबई के सांताक्रूज में बासु का अंतिम संस्कार किया गया, जहां परिवार के लोग मौजूद थे।

  • चटर्जी ने हिंदी के साथ-साथ बंगाली सिनेमा में भी काम किया। बासु चटर्जी ने भी अपने जमाने के सभी सुपरस्टार्स के साथ काम किया  और उन्हें बिल्कुल अलग अवतार में पेश किया। मंज़िल में अमिताभ बच्चन, चक्रव्यूह में राजेश खन्ना, मनपसंद में देव आनंद और शौकीन और पसंद अपनी अपनी में मिथुन चक्रवर्ती।
    Image Source : yogen shah

    चटर्जी ने हिंदी के साथ-साथ बंगाली सिनेमा में भी काम किया। बासु चटर्जी ने भी अपने जमाने के सभी सुपरस्टार्स के साथ काम किया  और उन्हें बिल्कुल अलग अवतार में पेश किया। मंज़िल में अमिताभ बच्चन, चक्रव्यूह में राजेश खन्ना, मनपसंद में देव आनंद और शौकीन और पसंद अपनी अपनी में मिथुन चक्रवर्ती।

  • बासु की 1986 की फ़िल्म एक रूका हुआ फ़ैसला, 12 एंग्री मेन का भारतीय रूपांतरण थी, यह फिल्म आज तक याद की जाती है। दूरदर्शन के शुरुआती दिनों के दौरान, बासु चटर्जी ने दो हिट टीवी धारावाहिकों - ब्योमकेश बख्शी और रजनी बनाए। हाल ही में, ब्योमकेश बक्शी को लॉकडाउन के दौरान फिर से रिपीट किया गया।
    Image Source : yogen shah

    बासु की 1986 की फ़िल्म एक रूका हुआ फ़ैसला, 12 एंग्री मेन का भारतीय रूपांतरण थी, यह फिल्म आज तक याद की जाती है। दूरदर्शन के शुरुआती दिनों के दौरान, बासु चटर्जी ने दो हिट टीवी धारावाहिकों - ब्योमकेश बख्शी और रजनी बनाए। हाल ही में, ब्योमकेश बक्शी को लॉकडाउन के दौरान फिर से रिपीट किया गया।

  • 1992 में, बासु को उनकी फिल्म दुर्गा के लिए सर्वश्रेष्ठ फिल्म के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
    Image Source : yogen

    1992 में, बासु को उनकी फिल्म दुर्गा के लिए सर्वश्रेष्ठ फिल्म के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

  • Indian Film & Television Directors' Association के प्रेसीडेंट अशोक पंडित भी बासु चटर्जी के अंतिम संस्कार में पहुंचे।
    Image Source : yogen shah

    Indian Film & Television Directors' Association के प्रेसीडेंट अशोक पंडित भी बासु चटर्जी के अंतिम संस्कार में पहुंचे।

Next Photo Gallery
X