1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. लखीमपुर कांड: कांग्रेस सोमवार को रखेगी ‘मौन व्रत’, अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और बेटे की गिरफ्तारी की मांग

लखीमपुर कांड: कांग्रेस सोमवार को रखेगी ‘मौन व्रत’, अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और बेटे की गिरफ्तारी की मांग

कांग्रेस लखीमपुर हिंसा मामले के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर सोमवार को देश भर में ‘मौन व्रत’ कार्यक्रम का आयोजन करेगी।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 09, 2021 22:39 IST
Police personnel stop Indian Youth Congress members who were staging a protest demanding the immedia- India TV Hindi
Image Source : PTI Police personnel stop Indian Youth Congress members who were staging a protest demanding the immediate arrest of Ashish Mishra, accused in the Lakhimpur Kheri violence, near Home Minister Amit Shahs residence in New Delhi on Saturday. 

नयी दिल्ली: कांग्रेस लखीमपुर हिंसा मामले के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर सोमवार को देश भर में ‘मौन व्रत’ कार्यक्रम का आयोजन करेगी। पार्टी के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल की ओर से प्रदेश कांग्रेस कमेटियों को भेजे गए पत्र के मुताबिक, कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं की ओर से 11 अक्टूबर को सभी राज्य मुख्यालयों पर राजभवनों या केंद्र सरकार के दफ्तरों के समक्ष सुबह 10 बजे से दिन में 1 बजे तक ‘मौन व्रत’ रखा जाएगा।

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक घटना में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने एक नोटिस जारी किया है। इसमें कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी 11 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक मौन व्रत करके विरोध जताएगी। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने कहा कि सभी PCC अध्यक्षों को इस दौरान राज्य में राज भवन या केंद्र सरकार के कार्यालयों के बाहर मौन व्रत करके विरोध जताने को कहा गया है।

सभी प्रदेश इकाइयों से कहा गया है कि वह इन कार्यक्रमों में वरिष्ठ नेताओं, सांसदों, विधायकों और अग्रिम संगठनों एवं विभागों के प्रमुखों की भागीदारी सुनिश्चित करे। कांग्रेस ‘मौन व्रत’ के माध्यम से लखीमपुर खीरी हिंसा से जुड़े सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और अजय मिश्रा को मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग करेगी। 

भारतीय युवा कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर प्रदर्शन किया 

भारतीय युवा कांग्रेस के सदस्यों ने शनिवार को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त करने और उनके बेटे आशीष मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर यहां प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस के अध्यक्ष बी.वी. श्रीनिवास के नेतृत्व में प्रदर्शनकारी सुनहरी बाग रोड पर जमा हुए और कृष्ण मेनन मार्ग स्थित केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के आवास तक मार्च निकालने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया। पुलिस ने पहले ही प्रदर्शन स्थल पर अवरोधक लगा दिए थे। प्रदर्शनकारियों ने लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों के लिए न्याय की मांग करते हुए मिश्रा के बेटे को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। प्रदर्शन के दौरान कुछ प्रदर्शनकारी पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधकों पर चढ़ गए और केंद्र के खिलाफ नारेबाजी की और गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की। युवा कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का पुतला जलाने की कोशिश की लेकिन पुलिस कर्मियों ने उनसे पुतला छीन लिया। 

लोकतंत्र बचाने के लिए गंभीर हैं प्रधानमंत्री, तो अजय मिश्रा को 24 घंटों में बर्खास्त करें: कांग्रेस

कांग्रेस ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर शनिवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए गंभीर हैं तो उन्हें आरोपी आशीष मिश्रा के पिता अजय मिश्रा को गृह राज्य मंत्री के पद से 24 घंटों के भीतर बर्खास्त करना चाहिए। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस समय ‘राजधर्म’ का पालन करना चाहिए। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘गोरखपुर से लखीमपुर तक के सफर से स्पष्ट है कि भाजपा का शासन शक्तिशाली व्यक्तियों के सामने झुक जाता है, इस समय न सिर्फ मोदी जी, बल्कि उत्तर प्रद्रेश के मुख्यमंत्री को भी राजधर्म याद आना चाहिए और उसका पालन करना चाहिए।’’ 

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में गत रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध करने के दौरान हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

Click Mania
bigg boss 15