Tuesday, June 25, 2024
Advertisement

इस राज्य में बंद की जाएंगी शराब की 500 दुकानें, सरकार ने शुरू किया सर्वे

इस राज्य में वित्त वर्ष 2022-23 के लिए टीएएसएमएसी शराब की बिक्री 44,098.56 करोड़ रुपये को छू गई है, जबकि पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान बिक्री के आंकड़े 36,050.65 करोड़ रुपये थे।

Edited By: Sudhanshu Gaur @SudhanshuGaur24
Updated on: April 25, 2023 21:55 IST
Liquor Shops News- India TV Hindi
Image Source : FILE इस राज्य में बंद की जाएंगी शराब की 500 दुकानें

चेन्नई: राज्य सरकार की अर्थव्यवस्था में सबसे ज्यादा आयकर शराब से ही आता है। राज्य सरकारों के बजट का बड़ा हिस्सा शराब से होने वाली आय पर निर्भर करता है। वहीं दक्षिण के एक राज्य में राज्य सरकार लगभग 500 शराब की दुकानें बंद करने पर विचार कर रही है। तमिलनाडु सरकार ने 500 शराब की दुकानें बंद करने के लिए सर्वे शुरू किया है।

500 दुकानें की जाएंगी बंद 

अधिकारियों ने बताया कि राज्य के आबकारी विभाग ने मंगलवार को तमिलनाडु राज्य विपणन निगम (टीएएसएमएसी) की 500 शराब की दुकानों को बंद करने के लिए एक सर्वेक्षण शुरू किया। बिजली, मद्यनिषेध और आबकारी मंत्री वी. सेंथिल बालाजी ने कुछ दिनों पहले विधानसभा में एक बहस के दौरान कहा था कि राज्य में 500 शराब की दुकानों को बंद करने के लिए कदम उठाए गए हैं।

स्कूल और पूजा स्थलों के पास की दुकानें होंगी बंद 

बताया गया है कि पूजा स्थलों, स्कूलों, कॉलेजों के पास टीएएसएमएसी की दुकानों और कम आय अर्जित करने वाली दुकानों की पहचान सर्वेक्षण के जरिए की जाएगी और फिर उन्हें बंद करने के लिए कदम उठाए जाएंगे। तमिलनाडु में राज्य सरकार के निकाय टीएएसएमएसी के स्वामित्व वाले 5329 रिटेल आउटलेट हैं, और इनमें से 500 को बंद कर दिया जाएगा।

 द्रमुक सरकार में अबतक 96 दुकानें हुई बंद 

सेंथिल बालाजी ने यह भी कहा था कि जब से द्रमुक सरकार सत्ता में आई है, 96 टीएएसएमएसी आउटलेट बंद कर दिए गए हैं। मंत्री के अनुसार, पूजा स्थलों, स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों के पास चल रहीं इन दुकानों को बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि वर्ष 2022-23 के लिए टीएएसएमएसी शराब की बिक्री 44,098.56 करोड़ रुपये को छू गई है, जबकि पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान बिक्री के आंकड़े 36,050.65 करोड़ रुपये थे, जिसमें 27 प्रतिशत की भारी वृद्धि हुई थी।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement