Saturday, June 22, 2024
Advertisement

स्वाइन फ्लू से बच्ची की मौत, रिश्तेदारों ने इलाज कराने से कर दिया था इनकार

डॉक्टर ने बताया शिशु को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने मरीज को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखने की सलाह दी लेकिन मरीज के साथ आए रिश्तेदारों ने इलाज से इनकार कर दिया और बच्चे को ले गए।

Edited By: Khushbu Rawal @khushburawal2
Published on: May 06, 2024 22:11 IST
H1N1 Virus- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO स्वाइन फ्लू या H1N1 Virus

असम के हैलाकांडी जिले में स्वाइन फ्लू के कारण एक शिशु की मौत हो गई, क्योंकि उसके साथ आए रिश्तेदारों ने राज्य के एक अस्पताल में इलाज से इनकार कर दिया था। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। मृत बच्‍ची की पहचान 15 महीने की फरहाना खानम के रूप में हुई है।

सिलचर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SMCH) के प्रिंसिपल डॉ. भास्कर गुप्ता ने बताया, “शिशु को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने मरीज को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखने की सलाह दी लेकिन मरीज के साथ आए रिश्तेदारों ने इलाज से इनकार कर दिया और बच्चे को ले गए।

इलाज पूरा किए बिना बच्ची को घर ले गए परिजन

हैलाकांडी जिले में स्वास्थ्य सेवाओं के संयुक्त निदेशक डॉ. अलकनंदा नाथ ने कहा कि फरहाना का जन्‍म जिले के सैदपुर में हुआ था। उन्होंने कहा कि मरीज को हैलाकांडी के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, हालांकि बाद में डॉक्टरों ने उसे बेहतर इलाज के लिए एसएमसीएच में भर्ती करने की सलाह दी। उन्होंने कहा, "जब मरीज के परिजन इलाज पूरा किए बिना मरीज को वापस घर ले आए, तो दुर्भाग्य से शिशु की मौत हो गई।"

एक मरीज ठीक होकर गया घर

डॉ. गुप्ता ने कहा कि उन्हें एसएमसीएच में स्वाइन फ्लू के कुल 5 मामले मिले और एक मरीज पहले ही ठीक होकर घर जा चुका है। उन्होंने जोर देकर कहा कि अन्य बीमारियों से पीड़ित लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा, “यह कमोबेश आम फ्लू जैसा ही है। लेकिन उच्च मधुमेह, श्‍वसन संकट वाले लोगों को स्वाइन फ्लू से निपटने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।”

स्वाइन फ्लू को लेकर दो जिलों में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। (IANS)

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement