Rajasthan News: विधायकों की भावना के हिसाब से नहीं हुआ फैसला तो सरकार गिरने का खतरा, गहलोत गुट के विधायक का बड़ा बयान

Rajasthan News: राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन पर राय जानने के लिये रविवार शाम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर बुलाई गई विधायक दल की बैठक से पूर्व पहुंचे निर्दलीय विधायक ने कहा कि अगर विधायकों के भावना के अनुरूप निर्णय नहीं होगा तो सरकार गिरने का खतरा तो पैदा हो ही जायेगा।

Pankaj Yadav Edited By: Pankaj Yadav @pan89168
Updated on: September 25, 2022 19:28 IST
Sanyam Lodha- India TV Hindi
Sanyam Lodha

Highlights

  • विधायक दल की बैठक में संयम लोढ़ा ने कही यह बात
  • विधायकों की भावना के अनुरूप निर्णय नहीं हुआ तो गिरेगी सरकार
  • संयम ने पहले ही कहा था कि अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री रहना चाहि

Rajasthan News: राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन पर राय जानने के लिए रविवार शाम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर बुलाई गई विधायक दल की बैठक से पूर्व पहुंचे निर्दलीय विधायक ने कहा कि अगर विधायकों के भावना के अनुरूप निर्णय नहीं होगा तो सरकार गिरने का खतरा तो पैदा हो ही जायेगा। मुख्यमंत्री गहलोत के कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने की घोषणा करने के मद्देनजर संयम लोढ़ा ने यह बात केबिनेट मंत्री शांतिधारीवाल के निवास पर आयोजित एक अन्य बैठक में कही।

अगर विधायकों की भावना के अनुरूप निर्णय नहीं हुआ तो सरकार गिरेगी -संयम लोढ़ा

मुख्यमंत्री के सलाहकार संयम लोढ़ा से संवाददाताओं ने जब पूछा कि गहलोत के अलावा दूसरा कोई मुख्यमंत्री बनेगा तो क्या वो सरकार के साथ रहेंगे। इस पर लोढ़ा ने कहा कि जो विधायकों की भावना है उसके अनुरूप निर्णय होगा तो सरकार चलेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ अगर विधायकों की भावना के अनुरूप निर्णय नहीं होगा तो सरकार गिरने का खतरा तो पैदा हो ही जायेगा ना ।‘‘ उन्होंने कहा विधायक दल की बैठक होने पर पता चलेगा कि किसका नाम आता है, लेकिन वह पहले ही कह चुके हैं कि अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री रहना चाहिए।

अशोक गहलोत CM नहीं रहेंगे तो अगला विधानसभा चुनाव जीतने में आएगी दिक्कत -लोढ़ा

निर्दलीय विधायकों का क्या रुख रहेगा? इस सवाल पर लोढ़ा ने कहा कि वह पहले की तरह गहलोत के साथ हैं। एक अन्य नेता गोविंद राम मेघवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। एक सवाल के जबवा में उन्होंने कहा, ‘‘अगर अशोक गहलोत मुख्यमंत्री नहीं रहते हैं, तो आगामी विधानसभा चुनाव जीतने में बहुत दिक्कत आएगी, गहलोत हमारी आत्मा हैं। गहलोत ने जो बजट दिया है और जो काम किए हैं, उसका लाभ उनके मुख्यमंत्री रहते हुए ही हमें मिलेगा।अगर हम उनको अलग कर देंगें तो हममें कमजोरी आ जायेगी।’’

विधायकों से रायशुमारी के बाद ही CM का नाम तय होगा -अजय माकन

इससे पूर्व विधायक दल की बैठक में पर्यवेक्षक के रूप में भाग लेने के लिए मल्लिकार्जुन खड़गे और AICC के महासचिव और प्रदेश प्रभारी अजय माकन जयपुर पहुंचे। जयपुर हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से बातचीत में खड़गे ने कहा कि प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, इस बारे में अभी वह कुछ नहीं बता सकते। लेकिन उन्होंने कहा कि शाम को विधायक दल की बैठक में विधायकों की राय जानने के बाद वह बात करेंगे। माकन ने कहा कि ‘‘ आज शाम सात बजे विधायक दल की बैठक है और मुझे और मल्लिकार्जुन खड़गे को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पर्यवेक्षक बनाकर भेजा है। विधायकों से रायशुमारी की जाएगी’’।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन