Tuesday, June 25, 2024
Advertisement

'राजनीति पांच मिनट का नूडल्स नहीं', पवन कल्याण ने ऐसा क्यों कहा?

पवन कल्याण ने राजनीति, कांग्रेस, बीजेपी और राहुल गांधी को लेकर बात की। उन्होंने कहा कि जनता सावधानी से फैसला लेकर वोट करे। आप लोगों की एक गलती पांच साल बर्बाद कर सकती है।

Edited By: Rituraj Tripathi @riturajfbd
Published on: May 04, 2024 14:34 IST
Pawan Kalyan- India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE पवन कल्याण

विशाखापत्तनम: जनसेना के संस्थापक एवं अभिनेता पवन कल्याण ने कहा कि राजनीति पांच मिनट का नूडल्स नहीं है और इसमें कोई भी फौरन नतीजों की उम्मीद नहीं कर सकता क्योंकि नेताओं को बाधाओं तथा असफलताओं को झेलकर लोगों का विश्वास अर्जित करना होता है। आंध्र प्रदेश में तेरह मई को होने वाले चुनाव के लिए जनसेना, तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सहयोगी हैं। 

राजनीति एक ‘फास्ट फूड’ नहीं: कल्याण

पवन कल्याण ने लोगों से राजग के लिए वोट करने की अपील करते हुए आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने पिछले पांच वर्षों के दौरान राज्य को अस्त-व्यस्त कर दिया है। उन्होंने कहा, 'आपको समझना होगा। हम सभी सोचते हैं कि राजनीति एक ‘फास्ट फूड’ है और हम इससे ‘फास्ट फूड’ जैसे परिणाम की ही उम्मीद करते हैं। आप इसके तुरंत परिणाम चाहते हैं। यह पांच मिनट का 'मैगी नूडल्स' नहीं है। जब मैं लोकनायक जयप्रकाश को देखता हूं, जब राम मनोहर लोहिया, सभी वरिष्ठों, यहां तक ​​कि श्री कांशीराम को देखता हूं, तो वे हारे लेकिन उन्होंने हासिल किया। इसलिए यह एक यात्रा की तरह है जो चलती रहती है।'

कल्याण ने कहा कि लोगों को इस बात पर भरोसा करना होगा कि उनका नेता राजनीतिक विघ्न-बाधाओं का सामना कर सकता है। जनसेना नेता ने कहा, मुझे लगता है कि मैंने अब वह भूमिका हासिल कर ली है। इसका परिणाम चुनाव में स्पष्ट रूप से देखा जाएगा। दक्षिणी राज्य के विभाजन के दौरान आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने के कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वादे से संबंधित मुद्दे पर कल्याण ने कहा कि यह छलका हुआ दूध है और इसने एक अलग रूप ले लिया है। 

कांग्रेस के संबंध में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से कन्याकुमारी से कश्मीर तक की पदयात्रा के लिए राहुल गांधी की प्रशंसा करते हैं लेकिन कभी आंध्र प्रदेश में मजबूत रही सबसे पुरानी पार्टी ने राज्य के लिए एक बड़ी गलती की है। उन्होंने कहा, "कांग्रेस ने वास्तव में एक बड़ी गलती की है। आंध्र प्रदेश में कांग्रेस मजबूत थी लेकिन उसने यहां के लोगों का समर्थन खो दिया है। वह फिर इस समर्थन को हासिल करने की कोशिश कर रही है, लेकिन लोग दूर चले गए हैं। व्यक्तिगत रूप से लोग उन्हें (राहुल गांधी) पसंद कर सकते हैं लेकिन एक पार्टी के रूप में यह अभी भी लोगों को रास नहीं आती।''

भाजपा के साथ अपने अच्छे संबंधों पर क्या बोले कल्याण?

भाजपा के साथ अपने अच्छे संबंधों पर कल्याण ने कहा कि वह इसका इस्तेमाल राज्य की भलाई के लिए करेंगे। उन्होंने लोगों से इस बार सावधानी से वोट करने की अपील की। कल्याण ने कहा, 'मैं चाहता हूं कि लोग बहुत सावधानी से निर्णय लें। आपकी एक गलती आपके पांच साल बर्बाद कर रही है। आपने एक बार जगन को वोट दिया और आपने सबकुछ खो दिया।' 

राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सहयोगियों के बीच सीट बंटवारे के समझौते के तहत तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) को 144 विधानसभा सीट और 17 लोकसभा सीट आवंटित की गई हैं जबकि भाजपा छह लोकसभा और 10 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है। जनसेना को लोकसभा की दो और विधानसभा की 21 सीट आवंटित की गई हैं। प्रदेश की 175 सदस्यीय विधानसभा और 25 लोकसभा सीट के लिए 13 मई को मतदान होना है। (इनपुट: भाषा)

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement