1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. हाथरस: क्यों पीड़िता के परिवार से मीडिया को नहीं मिलने दे रही पुलिस, इंडिया टीवी संवाददाता की शर्ट फटी

हाथरस: क्यों पीड़िता के परिवार से मीडिया को नहीं मिलने दे रही पुलिस, इंडिया टीवी संवाददाता की शर्ट फटी

हाथरस केस में पुलिस के भारी पहरे और मीडिया के बैन को लेकर पहली बार पुलिस का बयान सामने आया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 02, 2020 19:44 IST
हाथरस केस: मीडिया बैन को लेकर पहली बार पुलिस ने बताई वजह, इंडिया टीवी संवाददाता की फाड़ी शर्ट- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV हाथरस केस: मीडिया बैन को लेकर पहली बार पुलिस ने बताई वजह, इंडिया टीवी संवाददाता की फाड़ी शर्ट

नई दिल्ली। हाथरस केस में पुलिस के भारी पहरे और मीडिया के बैन को लेकर पहली बार पुलिस का बयान सामने आया है। हाथरस के एडिशनल एसपी प्रकाश कुमार ने बताया कि जब तक SIT काम कर रही है तब तक मीडिया को गांव में जाने की अनुमति नहीं होगी, जांच प्रभावित न हो इसलिए रोक लगाई गई है। मौजूदा कानून और व्यवस्था को देखते हुए राजनीतिक प्रतिनिधिमंडल पर रोक लगी रहेगी,जब तक प्रशासन तय न करे ले कि अब गांव का माहौल मुफीद है।

बता दें कि, हाथरस कांड में पुलिस और प्रशासन की कार्यप्रणाली पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। पीड़िता के गांव और घर को लेकर पुलिस ने घेराबंदी कर रखी है।  किसी को भी गांव से बाहर आने और बाहर से किसी को गांव में जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। गौरतलब है कि हाथरस मामले में पल-पल का अपडेट दे रहे इंडिया टीवी के संवाददाता कुमार सोनू की पीड़िता के घर जाने से रोकने के दौरान शर्ट फट गई। लेकिन फिर भी संवाददाता ने अपनी रिपोर्टिंग जारी रखी और इंडिया टीवी लगातार हाथरस पीड़ित परिवार से संपर्क करने में जुटा हुआ है ताकि सच सामने आ सके। हाथरस में बेटी के साथ हुई हैवानियत पर पुलिस क्या छिपा रही है। आखिर कौन सा सच है जो पुलिस नहीं चाहती कि सामने आए, लेकिन इंडिया टीवी की मुहिम लगातार जारी है। हाथरस की बेटी को इंसाफ दिलाकर रहेंगे।

पीड़िता के भाई ने कही ये बात... 

इधर गांव में पुलिस प्रशासन से छिपकर इंडिया टीवी के पास आए पीड़िता के भाई ने पुलिस-प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। भाई ने बताया कि घरवाले मीडिया से बात करना चाहते हैं लेकिन उन्हें घर में कैद कर दिया गया है। सबके मोबाइल छीन लिए गए हैं और उसके ताऊ की छाती पर लात मारी गई है। लड़के ने बातचीत में बताया कि पुलिस ने घर में घेराबंदी कर रखी है। सभी जगह पुलिस तैनात है, किसी को भी बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। मीडिया से बात करने पर पाबंदी है। साथ ही बताया जा रहा है कि घर में सभी के फोन छुड़ा लिए गए हैं। किसी के पास फोन तक नहीं है। 

ये भी पढ़ें: India TV Exclusive: जानिए हाथरस पीड़िता के भाई ने इंडिया टीवी के क्या कुछ कहा

जानिए क्या है मामला

बता दें कि, 14 सितंबर को यूपी के हाथरस की एक युवती के साथ गैंगरेप हुआ था। गैंगरेप के बाद आरोपियों ने युवती की जीभ काट दी थी और उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी। वारदात के बाद वह एक हफ्ते से ज्यादा बेहोश रही थी। हालत खराब होने के बाद किशोरी को एम्स दिल्ली ले जाया गया था, जहां मंगलवार की सुबह लगभग चार बजे उसने दम तोड़ दिया। मामले को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासत का माहौल गर्म है। यूपी पुलिस पर भी मामले में लीपापोती का आरोप लगा है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X