1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. साल 2020 में भारत का कच्चे इस्पात का उत्पादन 10.6 प्रतिशत घटकर 9.96 करोड़ टन

साल 2020 में भारत का कच्चे इस्पात का उत्पादन 10.6 प्रतिशत घटकर 9.96 करोड़ टन

भारत चीन के बाद दुनिया का सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक बना हआ है। चीन का कच्चे इस्पात का उत्पादन बीते साल 105.30 करोड़ टन रहा। इसमें पिछले साल के मुकाबले 5.2 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 31, 2021 17:02 IST
कच्चे स्टील का...- India TV Paisa
Photo:PTI

कच्चे स्टील का उत्पादन बढ़ा

नई दिल्ली। देश में पिछले साल महामारी की वजह से कच्चे इस्पात के उत्पादन में गिरावट देखने को मिली है। साल 2020 भारत का कुल कच्चे इस्पात का उत्पादन 2019 के मुकाबले 10.6 प्रतिशत की गिरावट के साथ 9.96 करोड़ टन के स्तर पर आ गया। ये जानकारी विश्व इस्पात संघ यानि वर्ल्डस्टील की ताजा रिपोर्ट में दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक भारत का कच्चे इस्पात का उत्पादन 2019 में 11.14 करोड़ टन रहा था। इसे साथ ही ग्लोबल प्रोडक्शन में भी इसी अवधि के दौरान गिरावट देखने को मिली है। रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में वैश्विक स्तर पर कच्चे इस्पात का उत्पादन भी 0.9 प्रतिशत घटकर 186.40 करोड़ टन रह गया। साल 2019 में दुनिया भर मे कुल मिलाकर 188.01 करोड़ टन कच्चे इस्पात का उत्पादन हुआ था।

आंकड़ों के अनुसार भारत हालांकि, चीन के बाद दुनिया का सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक बना हआ है। चीन का कच्चे इस्पात का उत्पादन बीते साल 105.30 करोड़ टन रहा। यह 2019 के 100.13 करोड़ टन के उत्पादन से 5.2 प्रतिशत अधिक है। समीक्षाधीन अवधि में जापान का उत्पादन 16.2 प्रतिशत घटकर 8.32 करोड़ टन रहा, जो 2019 में 9.93 करोड़ टन था। इस अवधि में रूस का कच्चे इस्पात का उत्पादन 2.6 प्रतिशत बढ़कर 7.34 करोड़ टन पर पहुंच गया। 2019 में रूस ने 7.16 करोड़ टन का उत्पादन किया था। आंकड़ों के अनुसार अमेरिका का इस्पात उत्पादन 17.2 प्रतिशत घटकर 7.27 करोड़ टन रह गया, जो इससे पिछले साल 8.78 करोड़ टन था। 2020 में दक्षिण कोरिया के इस्पात उत्पादन में छह प्रतिशत की गिरावट आई और यह 7.14 करोड़ टन से 6.71 करोड़ टन पर आ गया। जर्मनी का उत्पादन 10 प्रतिशत घटकर 3.96 करोड़ टन से 3.57 करोड़ टन रह गया। ब्राजील का इस्पात उत्पादन 4.9 प्रतिशत घटकर 3.10 करोड़ टन पर आ गया, जो 2019 में 3.26 करोड़ टन था। ईरान का उत्पादन 13.4 प्रतिशत बढ़कर 2.9 करोड़ टन पर पहुंच गया, जो इससे पिछले साल 2.56 करोड़ टन था।

Write a comment
Click Mania