1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Lockdown और नाइट कर्फ्यू की वजह से चीनी आपूर्ति में आ सकती है हल्‍की बाधा, ISMA ने चेताया

Lockdown और नाइट कर्फ्यू की वजह से चीनी आपूर्ति में आ सकती है हल्‍की बाधा, ISMA ने चेताया

इस्मा ने अनुमान जताया है कि 2020-21 में चीनी का उत्पादन 3.02 करोड़ टन रह सकता है। पिछले साल देश में 2.742 करोड़ टन चीनी का उत्पादन हुआ था।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: April 16, 2021 16:07 IST
Disruption in sugar supply chain minimal due to night curfew, lockdown- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Disruption in sugar supply chain minimal due to night curfew, lockdown

नई दिल्‍ली। चीनी उद्योग संगठन इस्‍मा (ISMA) ने शुक्रवार को कहा कि कुछ राज्‍यों में नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन लगाए जाने की वजह से चीनी आपूती श्रृंखला में न्‍यूनतम बाधा आने की संभावना है क्‍योंकि इस बार प्रतिबंध अधिक संगठित हैं और मानक परिचालन प्रक्रियाओं को पहले से तय किया गया है। इंडियन शुगर मिल्‍स एसोसिएशन ने कहा कि चालू विपणन वर्ष 2020-21 में 15 अप्रैल तक देश में 2.909 करोड़ टन चीनी का उत्‍पादन हो चुका है। एक साल पहले समान अवधि में 2.482 करोड़ टन चीनी का उत्‍पादन हुआ था।  

इस्‍मा ने बताया कि चालू चीनी वर्ष में मार्च तक 29.7 लाख टन चीनी का निर्यात हो चुका है, जबकि चालू वर्ष के लिए तय अनिवार्य कोटा 60 लाख टन तय किया गया है। इस्‍मा ने अनुमान जताया है कि 2020-21 में चीनी का उत्‍पादन 3.02 करोड़ टन रह सकता है। पिछले साल देश में 2.742 करोड़ टन चीनी का उत्‍पादन हुआ था।  

नवीनतम आंकड़ों को जारी करते हुए इस्‍मा ने कहा कि चीनी मिलें इस सीजन में मार्च तक तय कोटा 1.25 करोड़ टन के तहत घरेलू बाजार में 1.29 करोड़ टन चीनी की बिक्री कर चुकी हैं। पिछले साल राष्‍ट्रीय लॉकडाउन और रेस्‍टॉरेंट्स, मॉल्‍स, मूवी हॉल्‍स आदि के निरंतर बंद रहने से चीनी की बिक्री प्रभावित हुई थी।  

इस्‍मा ने कहा कि हालांकि इस साल प्रतिबंध अधिक संगठित और मानक परिचालन प्रक्रिया पहले से तय होने की वजह से नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन की वजह से चीनी आपूर्ति श्रृंखला पर न्‍यूनतम असर पड़ने की आशंका है। देश के सबसे बड़े चीनी उत्‍पादक राज्‍य उत्‍तर प्रदेश में 15 अप्रैल तक 1.008 करोड़ टन चीनी का उत्‍पादन किया गया है, जबकि एक साल पहले समान अवधि में यहां 1.082 करोड़ टन चीनी का उत्‍पादन हुआ था।  देश के दूसरे सबसे बड़े चीनी उत्‍पादक राज्‍य महाराष्‍ट्र में चीनी उत्‍पादन बढ़कर 1.039 करोड़ टन हो गया, जो एक साल पहले समान अवधि में 60.7 लाख टन था।

Maruti Suzuki ने दिया उपभोक्‍ताओं को झटका, वाहनों की कीमत तत्‍काल प्रभाव से इतनी बढ़ाई

मरीजों की बढ़ती संख्‍या देख मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला...

Oppo 20 अप्रैल को भारत में लॉन्‍च करेगी पहला सस्‍ता 5G स्‍मार्टफोन, कीमत होगी इतनी

इस साल दो सरकारी बैंकों का होगा निजीकरण, NITI Aayog ने उठाया ये कदम

Write a comment
X