ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जुलाई में 50 लाख से ज्यादा लोगों ने हवाई यात्रा की, जून से 61 फीसदी ज्यादा: डीजीसीए

जुलाई में 50 लाख से ज्यादा लोगों ने हवाई यात्रा की, जून से 61 फीसदी ज्यादा: डीजीसीए

विमानन नियामक डीजीसीए ने शुक्रवार को बताया कि जुलाई माह के दौरान देशभर में 50.07 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की। यह संख्या जून में 31.13 लाख यात्रियों के मुकाबले 61 प्रतिशत अधिक है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: August 13, 2021 22:48 IST
जुलाई में 50 लाख से ज्यादा लोगों ने हवाई यात्रा की, जून से 61 फीसदी ज्यादा: डीजीसीए- India TV Paisa
Photo:PTI

जुलाई में 50 लाख से ज्यादा लोगों ने हवाई यात्रा की, जून से 61 फीसदी ज्यादा: डीजीसीए

नई दिल्ली: विमानन नियामक डीजीसीए ने शुक्रवार को बताया कि जुलाई माह के दौरान देशभर में 50.07 लाख घरेलू यात्रियों ने हवाई यात्रा की। यह संख्या जून में 31.13 लाख यात्रियों के मुकाबले 61 प्रतिशत अधिक है। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अनुसार 21.15 लाख लोगों ने मई में और 57.25 लाख लोगों ने अप्रैल के दौरान हवाई यात्रा की थी। कोविड-19 की भयवाह दूसरी लहर के कारण मई में घरेलू हवाई यात्रा बुरी तरह प्रभावित हुई थी। 

डीजीसीए की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार जुलाई में 29.32 लाख यानी 58.6 प्रतिशत यात्रियों ने विमानन कंपनी इंडिगो के माध्यम से हवाई यात्रा की। वही स्पाइसजेट के जरिये 4.56 लाख लोगों ने यात्रा की, जो बाजार का 9.1 प्रतिशत है। इसके अलावा एयर इण्डिया से 6.7 लाख, गो फर्स्ट (पूर्व में गो एयर) से 3.42 लाख, विस्तारा से 4.07 लाख और एयर एशिया इण्डिया के जरिये 1.65 घरेलू यात्रियों ने हवाई सफर किया। 

आंकड़ों के अनुसार इन छह विमानन कंपनियों का घरेलू विमानन बाजार में कुल हिस्सा जुलाई के दौरान 53.6 से 74.6 प्रतिशत के बीच में रहा। देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण लगाए प्रतिबंधों में ढील के बाद 25 मई को घरेलू स्तर पर उड़ानों का संचालन फिर से शुरू हुआ था। भारतीय विमानन कंपनियों को महामारी से पहले की तुलना में अधिकतम 72.5 प्रतिशत घरेलू उड़ानों को संचालित करने की अनुमति है। डीजीसीए ने बताया कि जुलाई में इंडिगो का चार प्रमुख हवाईअड्डों बेंगलुरू, दिल्ली, हैदराबाद और मुंबई में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 97.3 प्रतिशत रहा।

Write a comment
elections-2022