1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. SpiceJet का महामारी के बीच बड़ा फैसला, बड़ी संख्या में कर्मचारियों का 50% तक वेतन रोका

SpiceJet का महामारी के बीच बड़ा फैसला, बड़ी संख्या में कर्मचारियों का 50% तक वेतन रोका

विमानन कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसके अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अजय सिंह अप्रैल में कोई वेतन नहीं लेंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 02, 2021 9:17 IST
SpiceJet defers up to 50pc of April salary for section of employees- India TV Paisa
Photo:PTI

SpiceJet defers up to 50pc of April salary for section of employees

नई दिल्‍ली। स्पाइसजेट (SpiceJet) ने कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के चलते कारोबार प्रभावित होने से अप्रैल में बड़ी संख्या में कर्मचारियों का 50 प्रतिशत तक वेतन रोका है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पायलट और केबिन क्रू सहित कर्मचारियों का अप्रैल का वेतन 10 से 50 फीसदी तक रोका गया है। उन्होंने कहा कि हालांकि, ड्राइवरों जैसे जूनियर कर्मचारियों को अप्रैल में पूरी तनख्वाह दी गई है।

विमानन कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसके अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) अजय सिंह अप्रैल में कोई वेतन नहीं लेंगे। कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर से विमानन क्षेत्र भी प्रभावित हुआ है, क्योंकि हवाई यात्रियों की संख्या में काफी कमी आई है। स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने कहा कि किसी भी कर्मचारी के वेतन में कोई कटौती नहीं होगी।

विमानन कंपनी यह सुनिश्चित कर रही है कि कम वेतनमान वाले कर्मचारियों को वेतन टाले जाने से कोई दिक्कत न हो और उन्हें पूरा वेतन दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएमडी ने अपना पूरा वेतन छोड़ने का फैसला किया है। यह केवल एक अस्थाई उपाय है और कंपनी द्वारा रोके गए वेतन का भुगतान हालात पूरी तरह सामान्य होने के बाद किया जाएगा।

झारखंड में स्वास्थ्यकर्मी को सरकार देगी प्रोत्साहन राशि

झारखंड सरकार ने कोविड संक्रमण काल में महत्वपूर्ण योगदान को देखते हुए अपने नियमित एवं संविदा पर कार्यरत सभी स्वास्थ्यकर्मियों को अप्रैल, 2020 के मूल वेतन/मानदेय के बराबर रकम प्रोत्साहन राशि के रूप में देने का फैसला किया है। झारखंड सरकार की ओर से शनिवार शाम जारी अधिसूचना में यह जानकारी दी गई है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के सभी स्वास्थ्यकर्मियों को उनके मूल वेतन/मानदेय के बराबर राशि प्रोत्साहन राशि के रूप में दिए जाने के फैसले को अपनी मंजूरी दे दी है। राज्य सरकार के फैसले के अनुसार, लगभग 103 करोड़ रुपये व्यय कर पूरे राज्य में काम कर रहे स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मियों एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मियों को यह प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। प्रोत्साहन राशि वर्ष 2020 के अप्रैल माह के मूल वेतन अथवा मानदेय के बराबर होगी। यह स्पष्ट किया गया है कि कोरोना संक्रमण काल में सेवा करने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को ही यह प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

कोरोना के साथ GST राजस्‍व संग्रह ने बनाया एक नया रिकॉर्ड, छुआ अबतक का सबसे ऊंचा आंकड़ा

चारों ओर से आ रही बुरी खबरों के बीच आई ये अच्‍छी खबर....

जनवरी-मार्च तिमाही में मुकेश अंबानी की कंपनी का मुनाफा सुनेंगे तो चौंक जाएंगे आप

Covid-19 के बढ़ते मामलों के बीच मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला...

कोरोना की दूसरी लहर के बीच सरकार ने अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों पर लिया ये फैसला...

Write a comment
X