1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. वर्क फ्रॉम होम के दौरान विश्व स्तर पर हैकिंग में भारी वृद्धि देखी गई: रिपोर्ट

वर्क फ्रॉम होम के दौरान विश्व स्तर पर हैकिंग में भारी वृद्धि देखी गई: रिपोर्ट

अमेरिका-आधारित वेरिजॉन बिजनेस द्वारा डेटा ब्रीच इन्वेस्टिगेशंस रिपोर्ट (2021 डीबीआईआर) के 14वें संस्करण में कुल 29,207 सुरक्षा संबंधी घटनाओं का विश्लेषण किया गया।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 13, 2021 20:10 IST
वर्क फ्रॉम होम के दौरान विश्व स्तर पर हैकिंग में भारी वृद्धि देखी गई: रिपोर्ट- India TV Paisa
Photo:PIXABAY

वर्क फ्रॉम होम के दौरान विश्व स्तर पर हैकिंग में भारी वृद्धि देखी गई: रिपोर्ट

न्यूयॉर्क: कोरोनावायरस महामारी के कारण घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) करने वाले ज्यादातर लोगों के साथ साइबर अपराध में वृद्धि हुई है। गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2021 में दुनिया भर में 5,258 डेटा उल्लंघन दर्ज किए गए, जो पिछले साल की तुलना में अधिक है। अमेरिका-आधारित वेरिजॉन बिजनेस द्वारा डेटा ब्रीच इन्वेस्टिगेशंस रिपोर्ट (2021 डीबीआईआर) के 14वें संस्करण में कुल 29,207 सुरक्षा संबंधी घटनाओं का विश्लेषण किया गया। इस दौरान 88 देशों, 12 उद्योगों और तीन विश्व क्षेत्रों में फैले पीड़ितों के साथ 83 योगदानकतार्ओं द्वारा एकत्र डेटा का उपयोग किया गया।

रिपोर्ट से पता चला कि अभूतपूर्व रूप से काम करने वाले लोगों की संख्या में क्रमश: फिशिंग और रैंसमवेयर के हमलों में क्रमश: 11 प्रतिशत और 6 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जबकि पिछले साल की तुलना में मिसरिप्रजेंटेशन के मामलों में 15 गुना की वृद्धि हुई है।

इसके अतिरिक्त डेटा से पता चला है कि 61 प्रतिशत उल्लंघनों में क्रेडेंशियल डेटा शामिल रहे हैं। क्रेडेंशियल स्टफिंग हमलों से पीड़ित लगभग 95 प्रतिशत संगठनों ने वर्ष के दौरान 637 और 3.3 अरब दुर्भावनापूर्ण लॉगिन प्रयासों का सामना किया।

वेरिजॉन बिजनेस के सीईओ टैमी इरविन ने एक बयान में कहा, कोविड-19 महामारी का वर्तमान में कई सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहे संगठनों पर गहरा असर पड़ा है।

इरविन ने कहा कि जिस तरह से बिजनेस-क्रिटिकल फंक्शन को क्लाउड पर स्विच करने वाली कंपनियों की संख्या बढ़ती है, उनके संचालन के लिए संभावित खतरा अधिक स्पष्ट हो सकता है, क्योंकि सुरक्षा में सेंधमारी करने वाले हेकर्स मानवीय कमजोरियों का फायदा उठाने और डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्च र पर बढ़ती निर्भरता का लाभ उठाते हुए प्रतीत होते हैं।

Write a comment
X