1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. IRFC का IPO बना सकता है मालामाल, 18 जनवरी को इतनी कम कीमत पर मिलेगा शेयर खरीदने का मौका

IRFC का IPO बना सकता है मालामाल, 18 जनवरी को इतनी कम कीमत पर मिलेगा शेयर खरीदने का मौका

इस IPO में निवेशकों को कम से कम 575 शेयर के लिए आवेदन करना होगा। यानी इस IPO का लॉट साइज 575 शेयर का है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 13, 2021 14:37 IST
IRFC IPO to raise Rs 4,600 cr; issue opens on Jan 18- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

IRFC IPO to raise Rs 4,600 cr; issue opens on Jan 18

नई दिल्‍ली। भारतीय रेल वित्त निगम (IRFC) का 4,600 करोड़ रुपये का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) रिटेल निवेशकों के लिए 18 जनवरी को खुलेगा। निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कान्त पांडेय ने बुधवार को यह जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आईआरएफसी का आईपीओ 4,600 करोड़ रुपये का होगा। इसके लिए मूल्य दायरा 25 से 26 रुपये रखा गया है। यह रेलवे की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी का पहला आईपीओ होगा। आईपीओ 20 जनवरी को बंद होगा। एंकर निवेशकों के लिए आईपीओ की शुरुआत 15 जनवरी से, जबकि रिटेल निवेशकों के लिए 18 जनवरी से होगी।

इस IPO में निवेशकों को कम से कम 575 शेयर के लिए आवेदन करना होगा। यानी इस IPO का लॉट साइज 575 शेयर का है। कोई भी निवेशक अधिकतम 13 लॉट के लिए आवेदन कर सकता है। इस IPO के लिए IRFC कुल 178 करोड़ शेयर जारी करेगी। यह सार्वजनिक क्षेत्र की पहली एनबीएफसी कंपनी है, जो शेयर बाजार में लिस्‍ट होगी।

50 लाख शेयर IRFC के कर्मचारियों के लिए आरक्षित

डिपार्टनमेंट ऑफ इंवेस्टमेंट एंड एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने ट्वीट करके बताया कि यह IPO 18 से 20 जनवरी तक खुला रहेगा। इसस IPO के लिए कुल 178 करोड़ इक्विटी शेयर में 1,18,80,46,000 शेयर जारी किए जाएंगे। वहीं, 59,40,23,000 इक्विटी शेयर भारत सरकार ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये बेचेगी। इस IPO में 50 लाख शेयर IRFC के कर्मचारियों के लिए आरक्षित रख्र गए हैं। कंपनी IPO से जुटाये फंड का इस्तेमाल बिजनेस के ग्रोथ के लिए भविष्य में पूंजी की जरूरतों और अपने कॉर्पोरेट खर्चों को पूरा करने में करेगी।

1986 में हुई थी आईआरएफसी की स्थापना

आईआरएफसी की स्थापना 1986 में हुई थी। कंपनी का प्रमुख कारोबार वित्तीय बाजार से धन जुटाकर अधिग्रहण या संपत्तियों के सृजन के लिए वित्तपोषण प्रदान करना है। बाद में ये संपत्तियां भारतीय रेलवे को पट्टे पर दी जाती हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अप्रैल, 2017 में रेलवे की पांच कंपनियों को सूचीबद्ध कराने की मंजूरी दी थी। इनमें से चार कंपनियों इरकॉन इंटरनेशनल लि., राइट्स लि., रेल विकास निगम लि.और इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन पहले ही सूचीबद्ध हो चुकी हैं। 

यह भी पढ़ें: नए कृषि कानूनों पर रोक लगने के बाद सरकार ने किया किसानों से इस योजना का लाभ उठाने का आह्ववान

यह भी पढ़ें: कार जैसे फीचर्स के साथ 52,999 रुपये में लॉन्‍च हुआ ये स्‍कूटर, नहीं पड़ेगी रजिस्‍ट्रेशन और लाइसेंस की जरूरत

यह भी पढ़ें: Snapdragon 888 प्रोसेसर, 8/128GB, ट्रिपल रियर कैमरा के साथ लॉन्‍च हुआ iQOO 7, कीमत भी बहुत कम

यह भी पढ़ें: PM-KISAN योजना में हुई बड़ी गड़बड़ी, सरकार ने पैसा वापस लेने की शुरू की प्रक्रिया

Write a comment