1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. EPFO ने अप्रैल-जून तिमाही के दौरान ETF में डाले 7715 करोड़ रुपये, शेयरों में निवेश की नहीं है मंजूरी

EPFO ने अप्रैल-जून तिमाही के दौरान ETF में डाले 7715 करोड़ रुपये, शेयरों में निवेश की नहीं है मंजूरी

वित्त वर्ष 2020-21 में ईपीएफओ को इक्विटी निवेश 31,025 करोड़ रुपये, वित्त वर्ष 2019-20 में 32,377 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2018-19 में 27,743 करोड़ रुपये रहा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 02, 2021 19:05 IST
EPFO invests Rs 7,715 cr in equity in April-June- India TV Paisa
Photo:PTI

EPFO invests Rs 7,715 cr in equity in April-June

नई दिल्‍ली। रिटायरमेंट फंड बॉडी कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) ने चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में 7,715 करोड़ रुपये का निवेश इक्विटी में किया है। सोमवार को लोकसभा में बताया गया कि ईपीएफओ केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित निवेश प्रक्रिया और सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी, ईपीएफ द्वारा स्‍वीकृत आंतरिक दिशा-निर्देशों के तहत अपने निवेश का 15 प्रतिशत तक इक्विटी में निवेश कर सकता है। श्रम एवं रोजगार राज्‍य मंत्री रामेश्‍वर तेली ने लोकसभा में बताया कि ईपीएफओ ने 2021-22 में 30 जून तक इक्विटी में 7,715 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

मंत्री ने कहा कि ईपीएफओ केवल निफ्टी 50, सेंसेक्‍स, केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम (सीपीएसई) और भारत 22 इंडसिज के साथ ईटीएफ मैन्‍युफैक्‍चरर्स (एसबीआई म्‍यूचुअल फंड और यूटीआई म्‍यूचुअल फुंड) के जरिये एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेश करता है। संगठन व्‍यक्तिगत शेयरों में निवेश नहीं करता है।

इन ईटीएफ में निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्र के व्‍यवसाय-प्रतिष्‍ठान शामिल हैं और इसमें बैंकिंग और गैर-बैंकिंग संस्‍था भी शामिल हैं। ईपीएफओ के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्‍टी और फाइनेंस इनवेस्‍टमेंट एंड ऑडिट कमेटी (एफआईएसी) में श्रमिकों का प्रतिनिधित्‍व होता है। यह दोनों ही इक्विटी और अन्‍य इंस्‍ट्रूमेंट में निवेश को मंजूरी देते हैं।  

वित्‍त वर्ष 2020-21 में ईपीएफओ को इक्विटी निवेश 31,025 करोड़ रुपये, वित्‍त वर्ष 2019-20 में 32,377 करोड़ रुपये और वित्‍त वर्ष 2018-19 में 27,743 करोड़ रुपये रहा। मंत्री ने यह भी बताया कि चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में ईपीएफओ ने अपने सदस्‍यों से अंशदान के रूप में 57,846 करोड़ रुपये प्राप्‍त किए हैं।

वित्‍त वर्ष 2020-21 में ईपीएफओ ने सदस्‍यों से अंशदान के रूप में 2,18,345 करोड़ रुपये, 2019-20 में 2,19,325 करोड़ रुपये और 2018-19 में 1,87,214 करोड़ रुपये हासिल किए।

एक अन्‍य प्रश्‍न के उत्‍तर में मंत्री ने कहा कि 27 जुलाई, 2021 के मुताबिक 45 लाख से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत किया गया है। इस योजना के लिए फंड मैनेजर भारतीय जीवन बीमा निगम है। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक पेंशन योजना है।  

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल से छुटकारा दिलाने के लिए सरकार की है ये योजना

यह भी पढ़ें: Big Bazaar Mahabachat Offer में आटा, दाल और चावल पर मिलेगी जबरदस्त छूट, प्री बुकिंग करने का मौका

यह भी पढ़ें: e-RUPI: आज लॉन्‍च होने वाले भारत के नए डिजिटल पेमेंट समाधान के बारे में जानें 8 जरूरी बातें

यह भी पढ़ें: Kia मोटर्स ने पेश की अपनी पहली ऑल-इलेक्ट्रिक EV sedan, जानिए भारत में कब से होगी बिक्री शुरू

यह भी पढ़ें: चार महीने में यहां लोगों ने कमाएं 31 लाख करोड़ रुपये, आप भी कर सकते हैं मोटी कमाई

Write a comment
Click Mania