1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. राहुल द्रविड़ के फैसले को दीपक चहर ने सही साबित किया : भुवनेश्वर कुमार

राहुल द्रविड़ के फैसले को दीपक चहर ने सही साबित किया : भुवनेश्वर कुमार

दीपक ने निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए ‘शानदार’ अर्द्धशतकीय पारी खेलकर टीम को तीन विकेट से जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Updated on: July 21, 2021 11:10 IST
Deepak Chahar, Rahul Dravid, Bhuvneshwar Kumar- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/BCCI Deepak Chahar and Bhuvneshwar Kumar

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में मिली जीत के बाद भारतीय टीम के उप कप्तान भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि दीपक चाहर को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजना कोच राहुल द्रविड़ का फैसला था। दीपक ने निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए ‘शानदार’ अर्द्धशतकीय पारी खेलकर टीम को तीन विकेट से जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 

चाहर ने नाबाद 69 रन की पारी खेलने के अलावा भुवनेश्वर (नाबाद 19) के साथ आठवें विकेट के लिए 84 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की विजयी बढ़त दिला दी। 

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympic : सॉफ्टबॉल प्रतियोगिता के साथ शुरू हुआ ओलंपिक, ऑस्ट्रेलिया को हराकर जापान ने की विजयी आगाज

भुवनेश्वर ने मैच के बाद ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘हमारी लक्ष्य अंतिम ओवर, अंतिम गेंद तक खेलना था इसलिए हम मैच को अंत तक ले जाना चाहते थे। एकमात्र योजना अंत तक खेलने की थी और दीपक ने जिस तरह की बल्लेबाजी की वह शानदार थी। ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘वह कोच राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में भारत ए की ओर से या किसी सीरीज में खेल चुका है और उसने वहां भी रन बनाए थे। इसलिए द्रविड़ को पता था कि वह बल्लेबाजी कर सकता है इसलिए यह द्रविड़ का फैसला था।’’

भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘और चाहर ने जिस तरह की बल्लेबाजी की उसने इसे सही साबित किया। हम सभी को पता है कि वह बल्लेबाजी कर सकता है, उसने रणजी ट्रॉफी में कई बार बल्लेबाजी की है।’’ श्रीलंका के 276 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने 193 रन पर सात विकेट गंवा दिए थे लेकिन चाहर और भुवनेश्वर ने भारत को पांच गेंद शेष रहते यादगार जीत दिला दी। 

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympic : टोक्यो खेलों के दौरान किए जाएंगे 5,000 डोपिंग टेस्ट

भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘हम यही बात कर रहे थे कि हमें अंत तक खेलना है। हमने एक दूसरे से कभी नहीं कहा कि यहां से हम जीत दर्ज कर सकते हैं। यहां तक कि जब हमें एक रन (तीन रन) की जरूरत थी तो भी हम एक बार में एक गेंद की बात कर रहे थे। दीपक ने कभी रन गति को छह से ऊपर नहीं जाने दिया।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘उसने लगभग सभी शॉट बिना जोखिम उठाए खेले। हमने कभी नहीं सोचा कि हम जीतने या हारने वाले हैं। हम स्थिति के अनुसार खेल रहे थे और एक बार में एक गेंद पर ध्यान दे रहे थे। ’’ भुवनेश्वर ने कहा कि पहली बार सीनियर टीम को कोचिंग दे रहे द्रविड़ टीम के प्रदर्शन से बेहद खुश हैं। 

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympic : सुमित नागल पर है मेंस टेनिस में पदक लाने का दारोमदार

इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘आप दबाव में आ सकते हैं, विशेषकर जब आप बाहर से बैठकर देख रहे हैं, आम तौर पर ऐसा होता है। जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था तो मैंने उन्हें नहीं देखा लेकिन जब वह नीचे आए तो उन्होंने हम दोनों और पूरी टीम को बधाई दी।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘वह काफी खुश थे, विशेषकर हमने जिस तरह का प्रदर्शन किया उससे। जब हमने पांच-छह विकेट गंवा दिए थे और उसके बाद दीपक ने जैसी बल्लेबाजी की।’’ 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड

टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X