1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. भारत ने गांधी जयंती के मौके पर नेपाल को 41 एंबुलेंस और 6 स्कूल बसें गिफ्ट कीं

भारत ने गांधी जयंती के मौके पर नेपाल को 41 एंबुलेंस और 6 स्कूल बसें गिफ्ट कीं

भारत ने शुक्रवार को महात्मा गांधी की 151वीं जयंती के मौके पर नेपाल में स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले विभिन्न संगठनों को 41 एम्बुलेंस और 6 स्कूल बसें गिफ्ट कीं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: October 02, 2020 19:54 IST
India Nepal Gandhi Jayanti, Nepal Gandhi Jayanti Buses, Nepal Gandhi Jayanti Ambulances- India TV Hindi
Image Source : TWITTER भारतीय दूतावास की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि हालांकि इस बार दूतावास ने 3 अलग-अलग श्रेणी की एंबुलेंस गिफ्ट में दी हैं।

काठमांडू: भारत ने शुक्रवार को महात्मा गांधी की 151वीं जयंती के मौके पर नेपाल में स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में काम करने वाले विभिन्न संगठनों को 41 एम्बुलेंस और 6 स्कूल बसें गिफ्ट कीं। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी का जन्म पोरबंदर में 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था। काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास की ओर से जारी एक बयान के अनुसार वाहन 30 जिलों में काम करने वाले संगठनों को मुहैया कराए गए। भारत ने 1994 से करीब 823 एंबुलेंस उपहार में दिए हैं जिसमें गांधी जयंती पर दिए गए वाहन शामिल हैं।

‘3 अलग-अलग श्रेणी की हैं एंबुलेंस’

भारतीय दूतावास की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि हालांकि इस बार दूतावास ने 3 अलग-अलग श्रेणी की एंबुलेंस गिफ्ट में दी हैं जिसमें उन्नत जीवन रक्षक श्रेणी, मूल जीवन रक्षक और साझा जीवन रक्षक एंबुलेंस शामिल हैं। तीनों श्रेणी की एंबुलेंस का निर्माण नेपाल सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप किया गया है। भारत ने इस वर्ष 26 जनवरी को अपने गणतंत्र दिवस के अवसर पर नेपाल के विभिन्न अस्पतालों और धर्मार्थ संगठनों को 30 एंबुलेंस सहित 36 वाहन दान किए थे। इस अवसर पर यहां स्थित भारतीय दूतावास ने देशभर में फैले 51 पुस्तकालयों और शैक्षणिक संस्थानों को किताबें भी भेंट की थीं।


भारत और नेपाल में खट्टे-मीठे रिश्ते
बता दें कि पिछले कुछ समय से भारत और नेपाल के रिश्ते बहुत अच्छे नहीं चल रहे हैं। नेपाल ने हाल ही में एक नया नक्शा जारी किया था जिसमें भारत के हिस्सों को उसने अपना बताया था। वहीं, कई अन्य मुद्दों पर भी नेपाल के केपी शर्मा 'ओली' का रुख भारत के विपरीत रहा है। माना जा रहा है कि ओली इस समय चीन के प्रभाव में हैं और उनकी हालिया गतिविधियां ड्रैगन से बढ़ती नजदीकी का परिणाम हैं। हालांकि उम्मीद की जानी चाहिए कि गांधी जयंती के मौके पर दोनों देश अपने साझा इतिहास और रोटी-बेटी के संबंधों को याद कर आगे बढ़ेंगे।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X