फिलीपींस में नाबालिगों के गर्भवती होने का क्या है राज, जानें क्या कहती है रिपोर्ट

Teen Pregnancy in Philippines: फिलीपींस में नाबालिगों के गर्भवती होने की घटना से पूरी दुनिया हैरान है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी इस रिपोर्ट को लेकर चिंता जाहिर करने के साथ ही इसे कम करने के उपायों पर जोर दिया था। शिक्षा और जागरूकता में कमी के चलते फिलीपींस में नाबालिगों के गर्भवती होने का चलन रहा है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: January 23, 2023 13:38 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : AP प्रतीकात्मक फोटो

Teen Pregnancy in Philippines: फिलीपींस में नाबालिगों के गर्भवती होने की घटना से पूरी दुनिया हैरान है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी इस रिपोर्ट को लेकर चिंता जाहिर करने के साथ ही इसे कम करने के उपायों पर जोर दिया था। शिक्षा और जागरूकता में कमी के चलते फिलीपींस में नाबालिगों के गर्भवती होने का चलन रहा है। हालांकि ताजा रिपोर्ट राहत पहुंचाने वाली है। रिपोर्ट के अनुसार पिछले कई वर्षों के दौरान अब नाबालिगों के गर्भवती होने के मामले कम हुए हैं।

फिलीपींस में 15 से 19 वर्ष की आयु की लड़कियों में गर्भावस्था 2017 में 8.6 प्रतिशत से घटकर 2022 में 5.4 प्रतिशत हो गई। आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, फिलीपीन स्टेटिस्टिक्स अथॉरिटी (पीएसए) के आंकड़ों से पता चलता है कि ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में शहरी क्षेत्रों में नाबालिग गर्भावस्था 4.8 प्रतिशत कम थी। 19 वर्षीय महिलाओं में सबसे अधिक गर्भावस्था प्रतिशत था। शैक्षिक उपलब्धि के मामले में प्राथमिक शिक्षा प्राप्त लड़कियों में गर्भावस्था सबसे आम थी, जो 19.1 प्रतिशत थी। फिलीपींस पिछले एक दशक से नाबालिग गर्भावस्था से जूझ रहा है, जो एक राष्ट्रीय सामाजिक आपातकाल है। कुछ अधिकारियों ने चेतावनी दी थी कि नाबालिग जन्म दर एक ऐसे स्तर पर मंडरा रही है जो राष्ट्रीय चिंता के समान है।

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, नाबालिग गर्भावस्था में वयस्कों की तुलना में मृत्यु दर दो से पांच गुना अधिक होती है। युवा माताओं से जन्म लेने वाले शिशुओं की नवजात मृत्यु दर 25 से 29 वर्ष की आयु की माताओं से पैदा हुए शिशुओं की तुलना में तीन गुना अधिक है। अधिकारियों ने चेतावनी दी कि इस बीच, यह सामाजिक समस्या परिवारों को अंतर-पीढ़ीगत गरीबी के सतत चक्र में फंसा सकती है।

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन