Covid News: दुनिया में फिर पैर पसार रहा है कोरोना वायरस? फ्रांस में रिकॉर्ड नए मामले, साउथ कोरिया में भी संकट

फ्रांस में देश के राष्ट्रीय दिवस से एक दिन पहले कोविड के 1,27,642 नए मामले सामने आए, जबकि ब्रिटेन में मौतों का आंकड़ा 2 लाख को पार कर रहा है।

Vineet Kumar Written By: Vineet Kumar @JournoVineet
Updated on: July 15, 2022 6:37 IST
Covid News, Coronavirus, Coronavirus France, Coronavirus South Korea, Coronavirus Japan- India TV Hindi News
Image Source : AP FILE People wearing face masks to protect against COVID-19 walk past the Eiffel Tower in Paris.

Highlights

  • यूरोप के कई देशों में हालात फिर से खराब होने लगे हैं।
  • फ्रांस में एक दिन में एक लाख से ज्यादा मामले सामने आए।
  • न्यूजीलैंड में भी कोरोना ने एक बार फिर अपने पर फैला लिए हैं।

Covid News: चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस से आज की तारीख में दुनिया का शायद ही कोई कोना अछूता रह गया हो। दुनिया को 2020 की शुरुआत में पहली बार इसके खतरे के बारे में पता चला, और तबसे तकरीबन हर मुल्क के लोग इस वायरस से खौफजदा हैं। पिछले कुछ महीनों में हालात बेहतर होते हुए नजर आ रहे थे, लेकिन लग रहा है कि यह वायरस एक बार फिर अपने पैर पसार रहा है। फ्रांस, साउथ कोरिया, जापान और न्यूजीलैंड समेत कई देशों में रोजाना बड़ी संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं।

फ्रांस में कोविड के नए मामलों का रिकॉर्ड टूटा

फ्रांस में देश के राष्ट्रीय दिवस से एक दिन पहले कोविड के 1,27,642 नए मामले सामने आए। मेडिकल एक्सपर्ट यहां ओमिक्रॉन के सबवेरिएंट BA.4 और BA.5 के प्रसार के साथ देश में महामारी की 7वीं लहर की चेतावनी दे रहे हैं। इस समय लगभग 19,580 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, जिनमें से 1,184 को क्रिटिकल केयर सेवाओं में भर्ती कराया गया था। बुधवार को देश में कोरोना से कुल 104 मौतें दर्ज की गईं जबकि कुल मौतों का आंकड़ा 8 जुलाई को 1.5 लाख की संख्या को पार कर गया।

न्यूजीलैंड में कोविड के 11,382 नए मामले
न्यूजीलैंड में कोविड के 11,382 नए मामले सामने आए हैं और महामारी से 23 और मौतें हुई हैं। इसके अलावा कोरोना संक्रमित 334 लोगों ने हाल ही में विदेश यात्रा की है। इस समय 765 कोविड रोगियों का इलाज अस्पतालों में किया जा रहा है, जिनमें 11 की हालत गंभीर है। 2020 की शुरुआत में देश में महामारी की चपेट में आने के बाद से न्यूजीलैंड ने अब तक कोविड के 1,464,237 मामलों की पुष्टि की है। बता दें कि न्यूजीलैंड ने एक समय अपने को ‘जीरो कोविड’ घोषित कर दिया था, जबकि पूरी दुनिया तब इस खतरनाक वायरस से जूझ रही थी।

Covid News, Coronavirus, Coronavirus South Korea

Image Source : AP FILE
Medical workers takes nasal samples from residents for coronavirus tests at a makeshift testing site in Seoul, South Korea.

दक्षिण कोरिया में सामने आए 39,196 नए मामले
दक्षिण कोरिया में 24 घंटे पहले की तुलना में बुधवार की आधी रात तक कोरोना संक्रमण के 39,196 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमणों की कुल संख्या बढ़कर 18,641,278 हो गई। इसके पिछले दिन 40266 मामले सामने आए थे। पिछले एक हफ्ते में देश में कोरोना के नए मामलों की औसत संख्या 27,071 रही है। फिलहाल देश में 69 लोग गंभीर हालत में भर्ती हैं, और 16 नई मौतें हुई हैं जिससे मरने वालों की संख्या 24,696 हो गई। हालांकि देश में कुल मृत्युदर 0.13 प्रतिशत रही है, जो कि दुनिया में सबसे कम में से है।

ब्रिटेन में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2 लाख के पार
ब्रिटेन में कोविड-19 से अब तक 2 लाख से अधिक मौतें दर्ज की गई हैं। एक आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक, जुलाई की शुरुआत तक देश में कोविड-19 से कुल 200,247 मौतें हुई हैं। जनवरी 2021 की शुरुआत तक देशभर में कोविड से एक लाख से ज्यादा मौतें हुई थीं। वैक्सीन और अन्य उपायों के चलते देश में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या कम करने में सफलता मिली है। ब्रिटेन में अब कोरोना की जांच मुफ्त में नहीं होती, ऐसे में माना जा रहा है कि लक्षण होने के बावजूद कुछ लोगों ने जांच से परहेज भी किया होगा।

Covid News, Coronavirus, Coronavirus New Zealand

Image Source : AP FILE
A health worker gives out Rapid COVID-19 antigen self-test kits at the Waipareira Trust drive-in COVID-19 testing station in Auckland, New Zealand.

क्या फिर से कहर बनकर टूटने वाला है कोरोना?
दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस एक बार फिर तकलीफ दे रहा है। यूरोप के कई देशों में इससे हाहाकार मचा हुआ है। भारत में भी पिछले कुछ दिनों से रोजाना 15 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन इसकी भयावहता कम हुई है। वैसे एक्सपर्ट्स का मानना है कि आने वाले दिनों में सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ओमिक्रॉन के कई सबवेरिएंट्स ने कुछ देशों में चिंता पैदा की है। ऐसे में कहा जा सकता है कि जब तक कोई फूलप्रूफ उपाय नहीं आ जाता, तब तक कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करने की जरूरत है।

Latest World News

navratri-2022