Thursday, February 22, 2024
Advertisement

यूक्रेन के ग्रामीण कैफे पर बरपा रूस का कहर, मिसाइल हमले में मारे गए 51 लोग

रूस ने यूक्रेन पर अब तक का सबसे बड़ा ड्रोन हमला किया है। इस हमले में अब तक 51 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है। जबकि 6 लोग घायल बताए जा रहे हैं। यूक्रेनी अधिकारियों ने मौतों और घायलों की पुष्टि की है। यह हमला ऐसे वक्त में हुआ जब जेलेंस्की यूरोपीय देशों का समर्थन जुटाने स्पेन में हैं।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: October 05, 2023 23:16 IST
रूसी हमले में तबाह यूक्रेन का ग्रामीण कैफे।- India TV Hindi
Image Source : AP रूसी हमले में तबाह यूक्रेन का ग्रामीण कैफे।

रूस ने यूक्रेन के ग्रामीण कैफे पर बड़ा हमला किया है। यूक्रेन के अनुसार 48 लोगों की इस हमले में मौत हो गई है। कई अन्य लोग घायल हो गए हैं। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमले के बाद से पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गई है। यूक्रेन के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को कहा कि रूस ने देश के उत्तर पूर्वी हिस्से में एक गांव पर हमला किया। इस हमले में कुल 51 लोगों की मौत हो गई है।  छह अन्य घायल हो गए। राष्ट्रपति के चीफ ऑफ स्टाफ एंद्री येरमाक और खारकीव के गवर्नर ओलेह सिनिहुबोव ने बताया कि रूसी बलों ने अपराह्न लगभग एक बजे खारकीव इलाके के ह्रोजा गांव स्थित दुकान और कैफे पर गोले दागे।

सिनिहुबोव ने बताया कि मारे गए लोगों में छह वर्षीय एक बच्चा भी शामिल है। बता दें कि इससे पहले रूस ने बृहस्पतिवार तड़के एक और बड़े हमले में यूक्रेन के कई इलाकों पर ड्रोन से निशाना साधा। यह हमला ऐसे वक्त हुआ है जब यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की लगभग 50 यूरोपीय नेताओं के शिखर सम्मेलन में पश्चिमी सहयोगियों का समर्थन जुटाने के लिए स्पेन के दौरे पर हैं। यूक्रेन की वायुसेना ने कहा कि देश की वायु सुरक्षा ने 29 ईरानी निर्मित ड्रोन में से 24 को नाकाम कर दिया। ये ड्रोन रूस ने दक्षिणी ओडेसा, मायकोलाइव और किरोवोह्राद क्षेत्रों में दागे थे। यूक्रेन के अधिकारियों ने जानमाल के किसी नुकसान की तत्काल कोई जानकारी नहीं दी है।

जेलेंस्की के स्पेन पहुंचते ही रूस ने किया बड़ा हमला

यह हमला तब हुआ जब जेलेंस्की यूरोपीय राजनीतिक समुदाय (ईपीसी) के एक शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए दक्षिणी स्पेन के ग्रेनाडा पहुंचे। इसका गठन फरवरी 2022 में यूक्रेन पर रूस के हमले के मद्देनजर किया गया था। उन्होंने अपने टेलीग्राम चैनल पर एक पोस्ट में कहा, “हमारे लिए अहम बात विशेष रूप से सर्दियों से पहले वायु रक्षा प्रणाली को मजबूत करना है और भागीदारों के साथ नए समझौतों का आधार पहले से ही मौजूद है।” पिछली सर्दियों के दौरान, रूस ने लगातार मिसाइल और ड्रोन हमलों से यूक्रेन की ऊर्जा प्रणाली और कई अन्य महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे को निशाना बनाया, जिससे पूरे देश में लगातार बिजली कटौती शुरू हो गई। (एपी) 

यह भी पढ़ें

तोशाखाना मामला बन चुका है इमरान के गले की फांस, अब निचली अदालत के फैसले को हाईकोर्ट में दी चुनौती

कनाडा नहीं, ये लंदन है...ब्रिटिश पीएम ऋषि सूुनक ने खालिस्तानियों को दिखाई औकात, भारतीय दूतावास के हमलावर का यूं किया इलाज

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement