Wednesday, February 21, 2024
Advertisement

जल्द ही चीन की यात्रा पर जाएंगे रूस के राष्ट्रपति पुतिन, अमेरिका की बढ़ेगी धड़कन, इन मुद्दों पर होगी बातचीत

'क्रेमलिन' ने कहा है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन जल्द ही चीन की यात्रा पर जाएंगे। हालांकि अभी तारीख क्या होगी, यह तय करना बाकी है।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: July 12, 2023 22:30 IST
रूस के राष्ट्रपति पुतिन और चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग।- India TV Hindi
Image Source : FILE रूस के राष्ट्रपति पुतिन और चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग।

Russia-China: रूस और यूक्रेन के बीच जबसे जंग शुरू हुई है, तभी से पश्चिमी देशों ने रूस का बायकाट कर दिया है। उस पर आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए। ऐसे में रूस के राष्ट्रपति पुतिन दुनिया के बड़े शिखर सम्मेलनों में जाने से भी बचते रहे हैं। हालांकि मुसीबत के वक्त चीन के राष्ट्रपति ​शी जिनपिंग ने रूस की यात्रा की थी, जंग के बीच दुनिया में कई रणनीतिक बदलाव हुए। ऐसे में जहां एक ओर पश्चिमी देश 'नाटो' के बैनर तले साथ हैं। वहीं एक और ग्रुप बन रहा है, ये है चीन और रूस का। इसमें उत्तर कोरिया को भी जोड़ा जा सकता है। इसी बीच 'क्रेमलिन' ने कहा है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन जल्द ही चीन की यात्रा पर जाएंगे। हालांकि अभी तारीख क्या होगी, यह तय करना बाकी है। 

क्रेमलिन ने बुधवार 12 जुलाई को कहा कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन जल्द ही चीन की यात्रा पर जाएंगे और अब दोनों देशों के बीच पहले से ही मजबूत संबंधों को और आगे बढ़ाने का अच्छा समय आ गया है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने एक न्यूज ब्रीफिंग में कहा कि पुतिन की चीन यात्रा तारीख की घोषणा तब की जाएगी, जब इसे अमलीजामा पहनाया जाएगा। उन्होंने आगे कहा, 'अब द्विपक्षीय रूसी-चीनी संबंधों के विकास में उच्च गतिशीलता बनाए रखने का बिलकुल सही समय है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि जब यात्रा की तारीखों पर सहमति होगी और सबको सूचित किया जाएगा।

जंग के बीच और करीब आए हैं रूस और चीन

रूस और यूक्रेन की जंग के बीच चीन और रूस एकदूसरे के और करीब आए हैं। जाहिर है दोनों का दुश्मन एक है, अमेरिका और 'नाटो' संगठन के देश। ऐसे में दोनों का साथ आना स्वाभाविक है। यूक्रेन में हजारों सैनिकों को भेजने के फैसले के बाद रूस ने चीन के साथ अपने आर्थिक, व्यापारिक, राजनीतिक और सैन्य संबंधों को और भी मजबूत किया है, जिससे पश्चिम के साथ संबंध शीत युद्ध के बाद के निचले स्तर पर पहुंच गए। पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 24 फरवरी 2022 को यूक्रेन में रूस द्वारा विशेष सैन्य अभियान शुरू करने से कुछ हफ्ते पहले नो लिमिट साझेदारी की कमिटमेंट की थी।

मार्च में रूस के दौरे पर गए थे शी जिनपिंग

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इसी साल मार्च के महीने में रूस का दौरा किया था। इस दौरान आर्थिक प्रतिबंध झेल रहे रूस के साथ कई आर्थिक और रणनीतिक समझौते किए थे। चीन, रूसी तेल और गैस का एक प्रमुख खरीदार है। उसने यूक्रेन में तनाव कम करने और युद्ध को खत्म करने की मांग भी की थी।

रूस और चीन में इन मुद्दों पर हो सकती है बातचीत

पोसकोव ने कहा, पुतिन की बीजिंग यात्रा के दौरान, दोनों राष्ट्रपति सहयोग और वैश्विक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। पेसकोव ने आगे कहा, 'अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सार के बारे में मॉस्को और बीजिंग के दृष्टिकोण की समानता के आधार पर हमारे पास आगे की चर्चाओं और सबसे महत्वपूर्ण रूप से रचनात्मक बातचीत के लिए बहुत अच्छी संभावनाएं हैं।'

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement