1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. कंगना रनौत फिर से कर सकती हैं अपने ऑफिस की कंस्ट्रक्शन, कोर्ट ने BMC की कार्रवाई को ठहराया गलत

कंगना रनौत फिर से कर सकती हैं अपने ऑफिस की कंस्ट्रक्शन, कोर्ट ने BMC की कार्रवाई को ठहराया गलत

बॉम्बे हाईकोर्ट ने एक्ट्रेस कंगना रनौत के बंगले पर की गई बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कारपोरेशन (बीएमसी) की कार्रवाई को गलत ठहराया है...

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Updated on: November 27, 2020 14:02 IST
kangana - India TV Hindi
Image Source : NSTAGRAM कंगना रनौत

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को बॉम्बे हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC द्वारा कंगना के ऑफिस को तोड़ने की तरीके को गलत ठहराया है और कहा है कि कंगना फिर से अपने ऑफिस की कंस्ट्रक्शन कर सकती हैं, लेकिन उन्हें जरूरी अनुमति लेनी होगी।

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने कहा कि बीएमसी द्वारा अभिनेत्री कंगना रनौत के बंगले के हिस्से को ध्वस्त करने की कार्रवाई द्वेषपूर्ण कृत्य था और अभिनेत्री को नुकसान पहुंचाने के लिए किया गया था। अदालत ने विध्वंस के आदेश को रद्द कर दिया। अदालत ने यह भी कहा कि अदालत किसी भी नागरिक के खिलाफ प्रशासन को ‘बाहुबल’ का उपयोग करने की मंजूरी नहीं देता है। 

Video: कंगना रनौत मामले में BMC को बॉम्बे हाईकोर्ट से झटका, एक्ट्रेस ने वीडियो शेयर कर दी ये प्रतिक्रिया

न्यायमूर्ति एस जे काठवाला और न्यायमूर्ति आर आई चागला की पीठ ने कहा कि नागरिक निकाय द्वारा की गई कार्रवाई अनधिकृत थी और इसमें कोई संदेह नहीं है। पीठ रनौत द्वारा नौ सितंबर को उपनगरीय बांद्रा स्थित अपने पाली हिल बंगले में बीएमसी द्वारा की गई कार्रवाई के आदेश को चुनौती वाली याचिका पर सुनवाई कर रही थी। पीठ ने कहा कि नागरिक निकाय ने एक नागरिक के अधिकारों के खिलाफ गलत इरादे से कार्रवाई की है। 

कंगना रनौत ने अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द कराने के लिए हाईकोर्ट का किया रुख

कंगना रनौत ने बीएमसी से हर्जाने में दो करोड़ रुपये मांगे थे और अदालत से बीएमसी की कार्रवाई को अवैध घोषित करने का आग्रह किया था। मुआवजे के मुद्दे पर पीठ ने कहा कि अदालत नुकसान का आकलन करने के लिए मूल्यांकन अधिकारी नियुक्त कर रही है जो याचिकाकर्ता और बीएमसी को विध्वंस के कारण होने वाले आर्थिक नुकसान पर सुनवाई करेगा। 

कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली को मुंबई पुलिस के सामने पेश होने के लिए मिला तीसरा नोटिस

अदालत ने कहा, ‘मूल्यांकन अधिकारी मार्च 2021 तक मुआवजे पर उचित आदेश पारित करेगा।” नागरिक निकाय ने याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि अभिनेत्री ने गैरकानूनी तरीके से अपने बंगले में निर्माण कार्य कराए थे। बीएमसी द्वारा नौ सितंबर को विध्वंस प्रक्रिया शुरु करने के बाद ही रनौत ने यह याचिका दायर की थी जिसके बाद अदालत ने अंतरिम आदेश में तोड़फोड़ पर रोक लगा दी थी।  

अपने पक्ष में फैसला आने के बाद कंगना रनौत ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा- "जब कोई व्यक्ति सरकार के खिलाफ खड़ा होता है और जीतता है, तो यह व्यक्ति की जीत नहीं है, बल्कि यह लोकतंत्र की जीत है। आप सभी को धन्यवाद जिन्होंने मुझे हिम्मत दी और उन लोगों को धन्यवाद जो मेरे टूटे सपनों पर हंस रहे थे। इसका एकमात्र कारण है कि आप एक खलनायक की भूमिका निभाते हैं, इसलिए मैं एक हीरो हूं।"

वर्कफ्रंट की बात करें तो कंगना जल्द ही 'थलाइवी', 'तेजस' और 'धाकड़' जैसी फिल्मों में नज़र आएंगी। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Write a comment