1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. नौकरियां नहीं जाएंगी, लेकिन काम बदल सकता है: भारतीय रेल

नौकरियां नहीं जाएंगी, लेकिन काम बदल सकता है: भारतीय रेल

ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में रेलवे बोर्ड के महानिदेशक (मानव संसाधन) आनंद एस.खाटी ने कहा कि भारतीय रेल ‘‘संख्या में कटौती नहीं कर रही है, सही व्यक्ति को सही काम दे रही है।’’

Bhasha Bhasha
Published on: July 03, 2020 23:14 IST
Railway- India TV Hindi
Image Source : PTI नौकरियां नहीं जाएंगी, लेकिन काम बदल सकता है: भारतीय रेल

नई दिल्ली. भारतीय रेल ने शुक्रवार को आश्वासन दिया कि किसी की नौकरी नहीं जाएगी लेकिन आने वाले दिनों में उसके कर्मचारियों का कामकाज कुछ बदल सकता है। गौरतलब है कि रेलवे ने एक दिन पहले ही एक पत्र जारी कर अपने महाप्रबंधकों से कहा था कि वे रिक्तियों में 50 प्रतिशत की कटौती करें और नए पदों का सृजन फिलहाल रोक दें।

ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में रेलवे बोर्ड के महानिदेशक (मानव संसाधन) आनंद एस.खाटी ने कहा कि भारतीय रेल ‘‘संख्या में कटौती नहीं कर रही है, सही व्यक्ति को सही काम दे रही है।’’ उन्होंने कहा कि भारतीय रेल में प्रौद्योगिकी के आने से कुछ लोगों का काम बदल सकता है, ऐसे में उन्हें नये काम का प्रशिक्षण दिया जाएगा, लेकिन किसी की नौकरी नहीं जाएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हम सही व्यक्ति को सही काम देंगे, नौकेरी से नहीं निकालेंगे। इसमें कोई संदेह नहीं है कि भारतीय रेल देश का सबसे बड़ा नियोक्ता बना रहेगा। हम बिना कौशल वाली नौकरियों से कौशल वाली नौकरियों की ओर जा रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि बृहस्पतिवार को दिए गए आदेश से तात्पर्य ऐसे पदों पर भर्ती करने से बचना है जहां कोई काम नहीं है, ऐसा करके भारतीय रेल उचित जगहों पर नयी रिक्तियां सृजित कर सकती है।

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जिन पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया जारी है, वह जारी रहेगी और नियुक्तियां भी होंगी। जिन नियुक्तियों के संबंध में विज्ञापन या अधिसूचना जारी हो चुकी है, उनमें भी कोई बदलाव नहीं होगा। भारतीय रेल में फिलहाल 12,18,335 कर्मचारी है और वह अपनी कमाई का 65 प्रतिशत हिस्सा वेतन और पेंशन पर खर्च करती है। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X