ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Tripura municipal elections result: त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा बड़ी जीत की ओर अग्रसर

Tripura municipal elections result: त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा बड़ी जीत की ओर अग्रसर

भाजपा ने खोवाई नगर परिषद, कुमारघाट नगर परिषद, सबरूम नगर पंचायत और अमरपुर नगर पंचायत में भी जीत हासिल कर ली है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 28, 2021 15:51 IST
Tripura municipal elections result: त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा बड़ी जीत की ओर अग्र- India TV Hindi
Image Source : PTI Tripura municipal elections result: त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा बड़ी जीत की ओर अग्रसर 

Highlights

  • भाजपा ने 51 सदस्यीय एएमसी में 37 सीट जीतकर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है
  • चुनाव परिणामों ने पूर्वोत्तर में पैठ जमाने के तृणमूल कांग्रेस के दावों के ‘‘खोखलेपन’’ को उजागर किया-घोष

अगरतला: त्रिपुरा में अगरतला नगर निगम (एएमसी) और 13 नगर निकायों की 222 सीट के लिए रविवार को जारी मतगणना में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जबरदस्त जीत की ओर आगे बढ़ रही है। राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि भाजपा ने 51 सदस्यीय एएमसी में 37 सीट जीतकर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है। अन्य सीट पर मतगणना जारी है। 

भाजपा ने खोवाई नगर परिषद, कुमारघाट नगर परिषद, सबरूम नगर पंचायत और अमरपुर नगर पंचायत में भी जीत हासिल कर ली है। पार्टी कैलाशहर, तेलियामुरा, मेलाघर और बेलोनिया नगर परिषदों के अलावा धर्मपुर और अंबासा नगर पालिकाओं, पानीसागर, जिरानिया और सोनापुरा नगर पंचायतों में भी अपने प्रतिद्वंद्वियों से बहुत आगे है। राज्य में शहरी स्थानीय निकायों की 334 सीट हैं। सत्तारूढ़ भाजपा ने सभी सीट पर उम्मीदवार उतारे हैं और उनमें से 112 पर निर्विरोध जीत हासिल की है। 

राज्य के लोगों को भाजपा पर भरोसा-दिलीप घोष 

चुनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए पार्टी उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव के परिणामों ने पूर्वोत्तर राज्य में पैठ जमाने के तृणमूल कांग्रेस के दावों के ‘‘खोखलेपन’’ को उजागर कर दिया है और राज्य के लोगों को भाजपा पर भरोसा है। घोष ने यहां संवाददाताओं से बातचीत के दौरान त्रिपुरा में चुनाव प्रचार करने वाले तृणमूल कार्यकर्ताओं को ‘‘भाड़े के लोग’’ बताया और कहा कि भाजपा तथा राज्य के लोगों के बीच ‘‘मजबूत संबंध’’ हैं। 

उन्होंने कहा कि तृणमूल त्रिपुरा में अपना खाता तब तक नहीं खोल सकती जब तक ‘‘भाजपा किसी सीट से उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला न करे।’’ घोष ने कहा, ‘‘नगर निकाय चुनाव के परिणाम उम्मीद के अनुसार आए हैं। तृणमूल का त्रिपुरा में खाता खुलने का कोई आसार नहीं है। उन्होंने केवल शोर मचाया। यह जनादेश दर्शाता है कि पश्चिम बंगाल से आए भाड़े के लोग ऐसे राज्य में किसी पार्टी को अपना आधार बनाने में मदद नहीं कर सकते, जिसका भाजपा पर भरोसा है।’’ 

इनपुट-भाषा

uttar-pradesh-elections-2022
elections-2022