Corona In Jharkhand: झारखंड के लातेहार में कोरोना से छात्रा की मौत, 14 छात्राएं संक्रमित, स्कूल बंद

Corona In Jharkhand: झारखंड के लातेहार के एक स्कूल में कोरोना संक्रमण फैल गया है जिससे 14 छात्राएं संक्रमित हो गई हैं और 1 छात्रा की मौत भी हो गई है।

Pankaj Yadav Written By: Pankaj Yadav
Published on: July 24, 2022 23:55 IST
Corona in school- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Corona in school

Highlights

  • कोरोना से एक छात्रा की मौत
  • 14 अन्य छात्राएं कोरोना से संक्रमित
  • कोरोना फैलने से स्कूल को किया बंद

Corona In Jharkhand: झारखंड के लातेहार जिले के चंदवा में कोरोना वायरस से कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की नौवीं कक्षा की छात्रा की शनिवार रात्रि मौत हो गई। इसके बाद जांच में 14 अन्य छात्राओं के संक्रमित पाये जाने पर विद्यालय में अवकाश घोषित कर दिया गया है। लातेहार की जिला शिक्षा अधिकारी निर्मला बरेलिया ने बताया कि शुक्रवार को विद्यालय की नौवीं कक्षा की 15 वर्षीय छात्रा सुशीला ताना भगत की कोरोना के लक्षण होने के बाद जांच की गयी तो उसे संक्रमित पाया गया। उन्होंने बताया कि इलाज के लिए भगत को चंदवा सीएचसी और फिर सदर अस्पताल ले जाया गया। लातेहार के सदर अस्पताल से उसे रांची के राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में इलाज के लिए भेजा गया, जहां इलाज के दौरान शनिवार देर रात्रि उसकी मौत हो गई। 

14 और छात्राएं संक्रमित पाई गईं

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि तत्काल शिविर लगाकर जब चंदवा कस्तूरबा विद्यालय में छात्राओं की कोरोना जांच की गई तो 14 अन्य छात्राओं को संक्रमित पाया गया। उन्होंने बताया कि वायरस के प्रसार को देखते हुए तत्काल सभी संक्रमित छात्राओं को विद्यालय में पृथकवास में रखा गया। उन्होंने बताया कि विद्यालय में अवकाश घोषित कर दिया गया है। विद्यालय की वार्डेन सीता कुमारी ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से छात्रा की मौत के बाद छात्राओं तथा कर्मचारियो में दहशत है। इस संबंध में जिला प्रशासन के अन्य अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से पूछे जाने पर सभी ने पूरी घटना के बारे में अनभिज्ञता प्रकट की जबकि अभी 15 जुलाई को भी लातेहार के ही मनिका ब्लॉक के कस्तूरबा विद्यालय में तीन छात्राएं संक्रमित पाई गई थीं।

छात्रा के अंतिम संस्कार के परिजनों को 4000 का मुआवजा

जानकारी के मुताबिक, रविवार तड़के छात्रा का शव रिम्स रांची से उसके पैतृक आवास बनहरदी गांव पहुंचा दिया गया, जहां पारंपरिक रीति रिवाज के अनुसार छात्रा का अंतिम संस्कार किया गया। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से अंतिम संस्कार के लिए छात्रा के परिजनों को चार हजार रुपए भी दिए गए। मृत छात्रा के पिता रामजी ताना भगत महाराष्ट्र में मजदूरी करते हैं। बरेलिया ने कहा कि अब पूरे विद्यालय परिसर को सैनिटाइज करने के बाद छात्राओं को स्कूल बुलाया जाएगा। 

Latest India News

navratri-2022