Wednesday, May 22, 2024
Advertisement

कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद्र गहलोत कोरोना पॉजिटिव, घर में ही क्वारंटाइन किए गए

कर्नाटक के राज्यपाल कोरोना वायरल से पीड़ित पाए गए हैं। जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। राज्यपाल के सभी कार्यक्रम अगले आदेश तक कैंसिल कर दिए गए हैं।

Reported By : T Raghavan Edited By : Mangal Yadav Updated on: January 09, 2024 19:43 IST
कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद्र गहलोत - India TV Hindi
Image Source : FILE-PTI कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद्र गहलोत

कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद्र गहलोत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। राजभवन की तरफ से मीडिया को दी गई जानकारी के अनुसार, जांच रिपोर्ट में राज्यपाल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन पर लगातार नजर रखी जा रही है और उनका स्वास्थ्य स्थिर है। फिलहाल उन्हें घर पर ही क्वारंटाइन किया गया है। सभी निर्धारित कार्यक्रम और अप्वाइंटमेंट अगले आदेश तक रद्द कर दिए गए हैं।

बीजेपी नेताओं ने आज राज्यपाल से मुलाकात की थी

राज्यपाल के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि से कुछ देर पहले आज बीजेपी के प्रदेश नेताओं ने थावर चंद्र गहलोत से मुलाकात कर किसानों को मिलने वाली सहायता राशि में देरी किए जाने का आरोप लगाते हुए राज्य की सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार के खिलाफ एक ज्ञापन दिया था। 

देश में बढ़ रही कोराना मरीजों की संख्या

बता दें कि देश के 12 राज्यों से सोमवार तक कोविड-19 के नए वैरियंट जेएन.1 के कुल 819 मामले सामने आए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि महाराष्ट्र से 250, कर्नाटक से 199, केरल से 148, गोवा से 49, गुजरात से 36, आंध्र प्रदेश एवं राजस्थान से 30-30, तमिलनाडु तथा तेलंगाना से 26-26, दिल्ली से 21, ओडिशा से तीन और हरियाणा से एक मामला सामने आया है। अधिकारियों ने बताया कि जेएन.1 के मामलों की संख्या भले ही बढ़ रही है, लेकिन तत्काल चिंता करने का कोई कारण नहीं है। उन्होंने कहा कि संक्रमितों में से ज्यादातर घर पर ही उपचार करा रहे हैं, जो हल्की बीमारी का संकेत है। 

केंद्र सरकार ने राज्यों को चेतावनी जारी की

देश में कोविड के मामलों में वृद्धि और जेएन.1 के मामले सामने आने के बीच केंद्र सरकार ने राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों से निरंतर निगरानी बनाए रखने को कहा है। राज्यों से केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा साझा की गई कोविड-19 के लिए संशोधित निगरानी रणनीति के विस्तृत दिशानिर्देशों का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसके तीव्र प्रसार को देखते हुए जेएन.1 को एक अलग ‘‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’’ (वीओआई) स्वरूप के रूप में वर्गीकृत किया है और कहा है कि यह वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य के प्रति कम जोखिम वाला है। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement