Monday, February 26, 2024
Advertisement

Gorakhpur temple attack: ATS के रडार पर पहले से था मुर्तजा, लैपटॉप में कई जिहादी वीडियो और साहित्य मिले

पुलिस के मुताबिक हमलावर मुर्तजा आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बदनीयती से मंदिर परिसर में घुसने का प्रयास कर रहा था, जिसे पीएसी एवं पुलिस के जवानों ने नाकाम कर दिया।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 05, 2022 11:52 IST
Gorakhpur temple attack case- India TV Hindi
Image Source : PTI Gorakhpur temple attack case

Highlights

  • अधिवक्ता बनकर ढूंढते हुए उसके घर एटीएस की एक टीम पहुंची थी
  • भनक लगते ही नेपाल भाग गया था मुर्तजा
  • लैपटॉप में जिहाद से जुड़े कई वीडियो मिले

Gorakhpur temple attack: गोरखपुर मंदिर परिसर के बाहर पुलिस जवानों पर हमले का आरोपी मुर्तजा अब्बासी पहले से ही एटीएस के रडार पर था। घटना से एक दिन पहले अधिवक्ता बनकर उसको ढूंढते हुए उसके घर एटीएस की एक टीम पहुंची थी लेकिन इसकी भनक लगने के बाद नेपाल चला गया था। मंदिर में हमले की घटना के बाद गिरफ्तार मुर्तजा को सात दिनों पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया। इस हमले में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी कट्टर सोच का है, उसके लैपटॉप में कई सारे जिहदी वीडियो और साहित्य मिले हैँ जिसको वो लगातार पढता था, देखता था। उसकी सोच थी कि अगर वह ऐसा हमला करता है तो जवाबी करवाई मारा जाएगा और शहीद कहलाएगा। शायद इसीलिए उसने हमले के लिए गोरखनाथ मंदिर को चुना। उसके लैपटॉप में कई वीडियो मिले जो जिहाद से सबंधित हैं। गुरिल्ला युद्ध के भी कई विडियो उसके फ़ोन में दिखे हैं।  इसी वजह से वह गोरखनाथ मंदिर गया। अगर वह मंदिर के अन्दर पहुंच जाता तो श्रद्धालुओं को भी बड़ा नुकसान पहुंचा सकता था।  एटीएस और एसटीएफ भी उसके सभी मूवमेंट को देख़ रही है और उसकी ट्रेवल हिस्ट्री खंगाल रही है ताकि उसके जेहादी होने की असल वजह पता चल सके। आरोपी की गतिविधियां काफी संदेहास्पद हैं। 

अब एजेंसियां यह जानकारी जुटा रही हैं कि इसके पास सिर्फ वीडियो है या वाकई इसके तार आईएस या अन्य आतंकी संगठन से जुड़े हैं। इस मामले में एटीएस और एसटीएफ की एक टीम मुंबई भी भेजी गई है। आईआईटी मुंबई में पढ़ाई के दौरान और बाद में वह जहां रहा वहां से जानकारी जुटाई जाएगी। जांच एजेंसियों को उम्मीद है कि मुंबई से मुर्तजा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां मिल सकती है।

पुलिस के मुताबिक हमलावर मुर्तजा आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बदनीयती से मंदिर परिसर में घुसने का प्रयास कर रहा था, जिसे पीएसी एवं पुलिस के जवानों ने नाकाम कर दिया। अधिकारियों ने कहा कि इस घटना में हमलावर ने पीएसी के दो जवानों को गंभीर रूप से घायल कर दिया।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना की विवेचना उप्र एटीएस को सौंपे जाने का निर्देश दिया था जिसके बाद से एटीएस मामले की जांच में जुट गई है। 

जानकारी के मुताबिक मुर्तजा ने सिद्धार्थनगर के अलीघड़वा से हथियार (बांका)खरीदा था। इसी से उसने पुलिसकर्मियों पर ताबतोड़ हमला कर उन्हें घायल कर दिया था।  मुर्तजा के पास से बरामद लैपटॉप की भी जांच की जा रही है। मुर्तजा के पास से आईएस और सीरिया के वीडियो मिले हैं। 

अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने बताया कि आरोपी के पास से कई संदिग्ध वस्तुएं बरामद हुईं हैं, जिसको देखकर लगता है कि यह एक गंभीर साजिश का हिस्सा था। कुमार ने कहा कि आरोपी के पास से जो दस्तावेज बरामद हुए हैं, वे काफी सनसनीखेज हैं। उन्होंने कहा कि जांच अभी शुरुआती चरण में है। कुमार ने कहा कि एक मामला पुलिस पर हमले के संबंध में गोरखनाथ पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है, जबकि धारदार हथियार के इस्तेमाल के संबंध में एक और मामला दर्ज किया गया है।उन्होंने कहा कि अगर आरोपी मंदिर में प्रवेश करने में कामयाब हो जाता तो भक्तों को नुकसान होता और स्थिति अनियंत्रित हो जाती। 

Latest Uttar Pradesh News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement