1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. Chanakya Niti: अगर मनुष्य ने नहीं किया ये काम तो जिंदगी भर दूसरों का रहेगा मोहताज

Chanakya Niti: अगर मनुष्य ने नहीं किया ये काम तो जिंदगी भर दूसरों का रहेगा मोहताज

खुशहाल जिंदगी के लिए आचार्य चाणक्य ने कई नीतियां बताई हैं। अगर आप भी अपनी जिंदगी में सुख और शांति चाहते हैं तो चाणक्य के इन सुविचारों को अपने जीवन में जरूर उतारिए।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: October 12, 2021 14:37 IST
Chanakya Niti- चाणक्य नीति- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Chanakya Niti- चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य की नीतियां और विचार भले ही आपको थोड़े कठोर लगे लेकिन ये कठोरता ही जीवन की सच्चाई है। हम लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में इन विचारों को भले ही नजरअंदाज कर दें लेकिन ये वचन जीवन की हर कसौटी पर आपकी मदद करेंगे। आचार्य चाणक्य के इन्हीं विचारों में से आज हम एक और विचार का विश्लेषण करेंगे। आज के विचार में आचार्य चाणक्य ने कहा है कि हर मनुष्य को अपने आप को परखना चाहिए। 

Chanakya Niti: अगर मनुष्य के अंदर आ गया ये बदलाव तो समझ लें विनाश की हो गई शुरुआत

'खुद को खोजिए, नहीं तो जीवन भर आपको दूसरे की राय पर निर्भर रहना पड़ेगा।' आचार्य चाणक्य 

आचार्य चाणक्य के इस कथन का अर्थ है कि मनुष्य को हमेशा अपने आप की परख करनी चाहिए। अगर आप अपने आपको परखेंगे नहीं तब तक आप दूसरों की राय पर निर्भर रहेंगे। आचार्य के इस कथन का अर्थ है कि मनुष्य को अपने आप को समझना चाहिए। यानी कि उसे अपनी सोच और समझ के आधार पर निर्णय लेना आना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो जीवन भर दूसरों की राय पर आपको निर्भर रहना होगा।

Chanakya Niti: ये 3 चीजें हर मनुष्य को सिखा जाती हैं जीवन का सबसे बड़ा सबक

मनुष्य अपने आपको सबसे अच्छी तरह से जानता है। इसके लिए आपको आत्म चिंतन करने की जरूरत है। हर मनुष्य को पता होता है कि वो किस स्वभाव का है। किस चीज को लेकर उसकी प्रतिक्रिया क्या होगी। साथ ही वो ये भी अच्छी तरह से जानता है कि वो दुनिया में किसी से भी झूठ बोल सकता है लेकिन वो खुद से कभी झूठ नहीं बोल सकता। यानी कि हर मनुष्य अपना सबसे अच्छा दोस्त होता है। लेकिन कई सारे लोग ऐसे होते हैं जो खुद को नहीं जानते होते हैं। अगर खुद को जानते भी होते हैं तो उन्हें खुद पर विश्वास नहीं होता है। ऐसे में वो किसी भी निर्णय को लेने में असमर्थ होते हैं। इसी वजह से आचार्य चाणक्य ने कहा है कि खुद को खोजिए, नहीं तो जीवन भर आपको दूसरे की राय पर निर्भर रहना पड़ेगा। 

Click Mania
bigg boss 15