1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. ऑटोमोबाइल मांग में सुधार उम्मीद से ज्यादा कमजोर, 2022 के दूसरी तिमाही में सबसे खराब प्रभाव देखने की संभावना: MOFSL

ऑटोमोबाइल मांग में सुधार उम्मीद से ज्यादा कमजोर, 2022 के दूसरी तिमाही में सबसे खराब प्रभाव देखने की संभावना: MOFSL

रिपोर्ट में कहा, सीवी और दोपहिया वाहनों के लिए वित्तपोषण सख्त होता जा रहा है। क्षेत्रीय चयन के संदर्भ में एमओएफएसएल '2वॉट' की तुलना में '4वॉट' को प्राथमिकता देता है क्योंकि 'पीवी' वर्तमान में सबसे कम प्रभावित है। और एक स्थिर प्रतिस्पर्धी वातावरण प्रदान करता है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: September 04, 2021 22:06 IST
ऑटोमोबाइल मांग में सुधार उम्मीद से ज्यादा कमजोर, 2022 के दूसरी तिमाही में सबसे खराब प्रभाव देखने की - India TV Paisa
Photo:PTI

ऑटोमोबाइल मांग में सुधार उम्मीद से ज्यादा कमजोर, 2022 के दूसरी तिमाही में सबसे खराब प्रभाव देखने की संभावना: MOFSL

नई दिल्ली: मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (एमओएफएसएल) ने कहा कि जून 2021 में दूसरा लॉकडाउन हटने के बाद से ऑटोमोबाइल मांग में सुधार उम्मीद से ज्यादा कमजोर रहा है। जबकि पीवी (यात्री वाहन) में स्वस्थ सुधार जारी है, जबकि दोपहिया और सीवी (वाणिज्यिक वाहन) कमजोर हैं। रिपोर्ट में कहा गया है, ट्रैक्टर खरीद में भी कमी रही है। इसके अतिरिक्त, सेमी-कंडक्टर की कमी तेजी हो रही है, 2022 के दूसरी तिमाही में सबसे खराब प्रभाव देखने की संभावना है। जबकि उम्मीद है,ओईएम और विक्रेता वर्तमान में कम हैं।

रिपोर्ट में कहा, सीवी और दोपहिया वाहनों के लिए वित्तपोषण सख्त होता जा रहा है। क्षेत्रीय चयन के संदर्भ में एमओएफएसएल '2वॉट' की तुलना में '4वॉट' को प्राथमिकता देता है क्योंकि 'पीवी' वर्तमान में सबसे कम प्रभावित है। और एक स्थिर प्रतिस्पर्धी वातावरण प्रदान करता है।

हमारा अनुमान है कि 2022 के दूसरे तिमाही में मजबूती से रिकवरी में निर्माण होगा, वित्तीय वर्ष22 की वृद्धि 16 प्रतिशत, 28 प्रतिशत, 28 प्रतिशत, 55 प्रतिशत, 2वॉट, पीवी, एलसीवीृ, ट्रैक्टरों के लिए 4 प्रतिशत है। रिपोर्ट में कहा, हम मांग में सुधार, एक मजबूत प्रतिस्पर्धी स्थिति, मार्जिन ड्राइवरों और बैलेंस शीट की ताकत के मामले में उच्च ²श्यता वाली कंपनियों को पसंद करते हैं।

Write a comment