1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत आर्थिक ताकत के रूप में उभरा, टॉप 3 अर्थव्यवस्था में शामिल होने की क्षमता: मुकेश अंबानी

भारत आर्थिक ताकत के रूप में उभरा, टॉप 3 अर्थव्यवस्था में शामिल होने की क्षमता: मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी के मुताबिक स्वच्छ ऊर्जा, शिक्षा, स्वास्थ्य, बायोटेक्नोलॉजी, लाइफ साइंस जैसे नए सेक्टर्स के साथ साथ मौजूदा कृषि, इंडस्ट्री और सर्विस सेक्टर में बदलाव से कई नए मौके खुलेंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: March 25, 2021 21:44 IST
भारत में दुनिया की...- India TV Paisa
Photo:PTI

भारत में दुनिया की टॉप 3 अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होने की क्षमता

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने उम्मीद जताई है कि आने वाले दशकों में भारत दुनिया की सबसे बड़ी 3 अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो सकता है। उन्होने कहा कि भारत का वक्त शुरू हो चुका है और वो एक आर्थिक, लोकतांत्रिक, रणनीतिक, सांस्कृतिक, डिजिटल और तकनीकी ताकत के रूप में आगे बढ़ रहा है। मुकेश अंबानी ने ये बात ईवाई पुरस्कार समारोह में कही।

विजेताओं को शुभकामनाएं देते हुए मुकेश अंबानी ने कहा कि उनके इस विश्वास के पीछे दो अहम वजह हैं। पहला यह कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के भविष्य के निर्माण में निजी क्षेत्र की अहम भूमिका की वकालत कर रहे हैं, जिसका हमें स्वागत करता चाहिए। वहीं भारत के पास अब अर्थव्यवस्था को बदल देने के लिए जरूरी तकनीकें मौजूद हैं। उनके मुताबिक इसे देखते हुए वो कारोबारियों के लिए आगे असंख्य अवसर देख रहे हैं। ऐसे में छोटे और मझौले कारोबारियों के पास एक बड़ा मौका है जब वो 130 करोड़ लोगों की जरूरतों और उम्मीदों को पूरा कर सकें।   

मुकेश अंबानी के मुताबिक स्वच्छ ऊर्जा, शिक्षा, स्वास्थ्य, बायोटेक्नोलॉजी, लाइफ साइंस जैसे नए सेक्टर्स के साथ साथ मौजूदा कृषि, इंडस्ट्री और सर्विस सेक्टर में बदलाव से कई नए मौके खुलेंगे। इसके साथ ही भारतीय कारोबारी अब बाजार की जरूरत के हिसाब विश्वस्तरीय गुणवत्ता को बेहतर कीमतों पर उपलब्ध कराने में सक्षम हो गए हैं, जिससे भारतीय कारोबारियों के लिए पूरी दुनिया के बाजार भी खुल गए हैं। इससे घरेलू कारोबारियों के पास भारतीय बाजारों के साथ साथ विदेशी बाजारों में अवसर बन गए हैं।

इस अवसर पर मुकेश अंबानी ने नए कारोबारियों को सलाह दी कि वो असफलताओं से कभी न घबराएं, क्योंकि असफलता के बाद ही सफलता मिलती है। इसके साथ ही उन्हें सीमित साधनों के साथ काम करने के लिए भी तैयार रहना चाहिए लेकिन उनकी लगन असीमित होनी चाहिए।  

यह भी पढ़ें : खत्म होंगे गांवो में जमीन विवाद और आसानी से मिलेगा कर्ज, जानिए क्या है सरकार की ये हाईटेक योजना 

यह भी पढ़ें : अपनी पुरानी कार देकर घर लाएं नई कार, जानिए नई स्क्रैपिंग पॉलिसी में आपको कितना होगा फायदा 

Write a comment
X