1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. JSW सीमेंट अपनी उत्पादन क्षमता 2023 तक बढ़ाकर करेगी 25 मीट्रिक टन, होगा 2875 करोड़ रुपए का निवेश

JSW सीमेंट अपनी उत्पादन क्षमता 2023 तक बढ़ाकर करेगी 25 मीट्रिक टन, होगा 2875 करोड़ रुपए का निवेश

वर्तमान में, JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 10 सीमेंट कंपनियों में से एक है, जिसके विनिर्माण संयंत्र भारत के पश्चिमी, दक्षिणी एवं पूर्वी क्षेत्रों में मौजूद हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: November 27, 2019 17:57 IST
jsw cement- India TV Paisa

jsw cement

नई दिल्‍ली। भारत में ग्रीन सीमेंट के सबसे बड़े निर्माता JSW सीमेंट लिमिटेड स्टील प्लांट्स से एक बाय-प्रोडक्ट के रूप में निकलने वाले ब्लास्ट फर्नेस स्लैग को सीमेंट उत्पादों में बदलता है। JSW पोर्टलैंड स्लैग सीमेंट (PSC) कंपनी का एक फ्लैगशिप प्रोडक्ट है। यह एक मिश्रित सीमेंट है और बाज़ार में उपलब्ध पारंपरिक सीमेंट उत्पादों की तुलना में इसकी अन्तिम क्षमता सबसे ज्यादा है, साथ ही यह रासायनिक हमलों को भी बेअसर करता है। JSW के PSC में क्लिंकर अनुपात बहुत कम है, जो प्राकृतिक संसाधनों, अर्थात चूना पत्थर तथा कोयला एवं पेट-कोक जैसे ठोस ईंधन और पानी के संरक्षण में मददगार है। भारतीय बाज़ार में उपलब्ध अन्य सभी प्रकार के सीमेंट उत्पादों की तुलना में इसमें विद्युत ऊर्जा की बेहद कम खपत होती है।

वर्तमान में, JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 10 सीमेंट कंपनियों में से एक है, जिसके विनिर्माण संयंत्र भारत के पश्चिमी, दक्षिणी एवं पूर्वी क्षेत्रों में मौजूद हैं। यह कंपनी को इन क्षेत्रों में ग्राहकों की ग्रीन सीमेंट की मांग को पूरा करने में सक्षम बनाता है। इसलिए कंपनी ने वर्ष 2023 तक सीमेंट निर्माण क्षमता को 25 मीट्रिक टन प्रत वर्ष तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। इसका उद्देश्य देश में सीमेंट की बढ़ती मांग को पूंजी में परिणत करना है। उत्पादन क्षमता का लक्ष्य हासिल करने के बाद, JSW सीमेंट भारत की शीर्ष 5 सीमेंट कंपनियों में शामिल हो जाएगा।

JSW सीमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर पार्थ जिंदल ने कहा कि EPD इंटरनेशनल से प्राप्त यह प्रमाण-पत्र, वास्तव में पर्यावरण की दृष्टि से संवहनीय कार्यप्रणाली के साथ-साथ विकास की हमारी रणनीति की पुष्टि करता है। ग्रीन मटेरियल को केंद्रीय स्थान प्राप्त हो रहा है, जो भारत में बुनियादी ढांचे के संवहनीय तरीके से विकास से प्रेरित है। अपनी रणनीति के हिस्से के रूप में, हमने सीमेंट की समग्र उत्पादन क्षमता के लक्ष्य को संशोधित किया है और इसे वर्ष 2023 तक 25 MTPA पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। उत्पादन क्षमता के विस्तार के पूरा होने पर, हम भारत की शीर्ष 5 सीमेंट कंपनियों में शामिल हो जाएंगे।

JSW सीमेंट की मौजूदा उत्पादन क्षमता 14 MTPA है। ओडिशा में इसकी सहायक कंपनी, शिवा सीमेंट लिमिटेड ने कई परियोजनाओं की शुरुआत की है, जो कंपनी को अपनी उत्पादन क्षमता को 25 MTPA तक बढ़ाने के लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम बनाएगा। वर्तमान में शिवा सीमेंट में JSW सीमेंट की हिस्सेदारी 54 प्रतिशत है, जिसमें मार्च 2017 में पूर्व प्रमोटरों से इसके बड़े हिस्से की खरीद तथा ACC लिमिटेड से खुले बाजार की खरीद के माध्यम से अधिग्रहित शेष हिस्सा शामिल है। चूंकि शिवा सीमेंट चूना पत्थर के समृद्ध क्षेत्र में स्थित है, इसलिए इसके खनन संसाधन पूर्वी क्षेत्र में JSW सीमेंट के विकास में सहायक होंगे।

पिछले तीन वर्षों में, कंपनी ने भूमि अधिग्रहण करने (विनिर्माण एवं खनन कार्यों के लिए ली जाने वाली जमीन), सरकार से मंजूरी हासिल करने तथा अपने विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए स्थानीय लोगों का समर्थन पाने के मामले में पर्याप्त प्रगति की है। हाल ही में, शिवा सीमेंट ने अपने खदानों को 0.12 MTPA से 0.345 MTPA तक विस्तारित करने के लिए कन्सेन्ट टू इस्टैबलिश (CTE) प्राप्त किया। क्लिंकर और सीमेंट उत्पादन के विस्तार के लिए भी पर्यावरण मंजूरी (EC) प्राप्त हुई है। इसके अलावा, इस महीने की शुरुआत में ई-नीलामी प्रक्रिया के माध्यम से शिवा सीमेंट को खटकुरबहल (उत्तर) के लाइमस्टोन ब्लॉक के लिए पसंदीदा बिडर घोषित किया गया। यह ब्लॉक इसके मौजूदा खदान के बिल्कुल नजदीक है।

Write a comment
bigg-boss-13