1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. निर्यात की अनुमति मिलते ही प्‍याज ने दिखाया अपना रंग, मंडियों में थोक भाव 500 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ा

निर्यात की अनुमति मिलते ही प्‍याज ने दिखाया अपना रंग, मंडियों में थोक भाव 500 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ा

सरकार ने सोमवार को प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर लगाई गई रोक को अगले साल एक जनवरी से हटाने का फैसला किया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 29, 2020 13:15 IST
onion wholesale price up in lasalgaon- India TV Paisa
Photo:PTI

onion wholesale price up in lasalgaon

नई दिल्‍ली। देश में प्‍याज की नई आवक शुरू होने से कीमतों पर बने दबाव को कम करने के लिए सरकार द्वारा सोमवार को प्‍याज निर्यात पर से प्रतिबंध हटाने की घोषणा के तुरंत बाद ही प्‍याज की थोक कीमतों में जोरदार उछाल देखने को मिला है। मंगलवार को महाराष्ट्र की लासलगांव मंडी में प्याज का थोक भाव 2200 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया। इससे पहले सोमवार को यहां प्‍याज का थोक भाव अधिकतम 1750 रुपये प्रति क्विंटल था। वहीं मनमाड मंडी में मंगलवार को प्‍याज का थोक भाव 2100 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंच गया, जो सोमवार को 1600 रुपये प्रति क्विंटल तक था।

01 जनवरी, 2021 से शुरू होगा निर्यात

सरकार ने सोमवार को प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर लगाई गई रोक को अगले साल एक जनवरी से हटाने का फैसला किया है। सरकार ने इस साल सितंबर में कीमतों में तेजी आने और घरेलू बाजार में उपलब्धता बढ़ाने के लिए प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी। विदेश व्यापार महानिदेशालय ने एक अधिसूचना में कहा कि प्याज की सभी किस्मों का निर्यात एक जनवरी 2021 से मुक्त रूप से किया जा सकता है। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) वाणिज्य मंत्रालय की इकाई है जो कि निर्यात और आयात-संबंधी मुद्दों को देखता है।

नई आवक से घटे दाम

राष्ट्रीय राजधानी में प्याज का खुदरा मूल्य 35-40 रुपये प्रति किलोग्राम के दायरे में है। भारत में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और कर्नाटक तीन सबसे बड़े प्याज उगाने वाले राज्य हैं। भारत सबसे बड़े प्याज निर्यातकों में से एक है। भारत से नेपाल और बांग्लादेश सहित कई देशों को प्याज का निर्यात किया जाता है। 

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X