1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पीयूष गोयल ने कहा, भारत में MSP की व्यवस्था WTO के नियमों के अनुरूप

पीयूष गोयल ने कहा, भारत में MSP की व्यवस्था WTO के नियमों के अनुरूप

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि देश में चल रही न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व्यवस्था पूरी तरह से विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) नियमों के अनुरूप है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 09, 2021 21:16 IST
Piyush Goyal- India TV Paisa
Photo:PIYUSH GOYAL

Piyush Goyal

नयी दिल्ली। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि देश में चल रही न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व्यवस्था पूरी तरह से विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) नियमों के अनुरूप है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘शांति उपबंध की अभी व्यवस्था है। यह व्यवस्था सार्वजनिक खरीद उद्देश्य के लिये है। इसके तहत हमें बाजार से खरीदने की अनुमति है। हम जिस एमएसपी व्यवस्था को चला रहे हैं, वह डब्ल्यूटीओ नियमों के अनुरूप है।’’ 

पढ़ें- SBI ग्राहकों के लिए बुरी खबर! बैलेंस न होने पर ट्रांजेक्शन हुआ फेल, तो लगेगा इतना 'जुर्माना'

पढ़ें- SBI ग्राहक घर बैठे बदल सकते हैं नॉमिनी का नाम, ये है तरीका

मंत्री से यह पूछा गया था कि क्या एमएसपी डब्ल्यूटीओ के नियमों के अनुरूप है, क्योंकि विश्व व्यापार संगठन के कुछ सदस्य देशों ने आरोप लगाया है कि भारत में जो एमएसपी व्यवस्था चल रही है, वह बाजार को बिगाड़ने वाली है और सरकार ने विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों से कहा है कि एमएसपी प्रणाली बनी रहेगी। विश्व व्यापार नियम के तहत डब्ल्यूटीओ के सदस्य देश का खाद्य सब्सिडी बिल 1986-88 के संदर्भ मूल्य के आधार पर 10 प्रतिशत उत्पादन मूल्य से अधिक नहीं होना चाहिए। 

पढ़ें- पेटीएम से पेमेंट करना पड़ेगा महंगा, कंपनी ने थोपा एक्स्ट्रा चार्ज

पढ़ें- अब गैर रजिस्टर मोबाइल नंबर पर भी आएगा आधार OTP, UIDAI ने बताई पूरी प्रक्रिया

डब्ल्यूटीओ में अस्थायी व्यवस्था के रूप में शांति उपबंध (पीस क्लॉज) का प्रावधान किया गया है। इसके अंतर्गत व्यवस्था दी गई है कि कोई भी विकासशील देश यदि 10 प्रतिशत से ज़्यादा सब्सिडी देता है तो कोई अन्य देश इस बात पर आपत्ति नहीं करेगा और उसे चुनौती नहीं देगा। यह व्यवस्था तबतक के लिये है, जबतक खाद्य भंडारण मामले का कोई स्थायी समाधान नहीं निकाल लिया जाता। इस मामले में वाणिज्य सचिव अनूप वधावन ने कहा कि भारत की सब्सिडी डब्ल्यूटीओ सीमा के भीतर है और विकसित देशों की तुलना में विकासशील देशों में सब्सिडी कम है।

पढ़ें- बैंक अकाउंट से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर बदलना हुआ बेहद आसान, ये रहा पूरा प्रोसेस

Write a comment
womens-day-2021