1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. खदान के अंधेरों में चमकी इस शख्स की किस्मत, रातों रात बन गया करोड़पति

खदान के अंधेरों में चमकी इस शख्स की किस्मत, रातों रात बन गया करोड़पति

सिर्फ हाथों के बल खुदाई करने वाले शख्स ने तलाशे 33 लाख डॉलर मूल्य के 2 रत्न

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: June 25, 2020 20:46 IST
small scale miner finds biggest gems worth 3.3 million dollar- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

small scale miner finds biggest gems worth 3.3 million dollar

नई दिल्ली। तंजानिया में एक शख्स की किस्मत रत्नों के खनन में लगी कंपनियों से भी तेज निकली है। अपने हाथों के बल पर खदानों में रत्नों की तलाश करने वाले इस शख्स को अब तक के सबसे बड़े तंजानाइट मिले हैं, जो कि एक दुर्लभ रत्न है। इस खोज ने न केवल इस खनिक को रातों रात करोड़पति बना दिया है, साथ ही उसे देश के राष्ट्रपति ने खुद फोन कर बधाई दी है।

तंजानिया की सरकार के मुताबिक ये दोनो रत्न अब तक के सबसे बड़े तंजानाइट है, जिन्हें अब देश के संग्रहालय में रखा जाएगा। सरकार ने इस शख्स को इन दो रत्नों के लिए 33 लाख डॉलर की रकम दी है जो कि तंजानिया की मुद्रा में 7 अरब 74 करोड़ तंजानिया शीलिंग है। मीडिया को दी गई जानकारी के मुताबिक इसमें से एक रत्न का वजन 9.27 किलो और दूसरे रत्न का वजन 5.1 किलो है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस शख्स का मुख्य व्यवसाय पशुपालन है और समय मिलने पर वो रत्नों की तलाश करता है, उसे ये रत्न पिछले हफ्ते ही मिल गए थे, हालांकि इनकी कीमत और खासियत का पता तब चला जब वो इन रत्नों को बेचने के लिए सरकारी एजेंसी के पास पहुंचा। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक ये शख्स अपने पैसों से एक स्कूल और एक शॉपिंग मॉल खोलना चाहता है। खुद कभी स्कूल न जाने की वजह से वो चाहता है कि उसके बच्चे और आसपास के दूसरे गरीबों के बच्चे इस स्कूल में अपनी शिक्षा लें।

वहीं रत्न की खबर मिलने पर तंजानिया के राष्ट्रपति ने इन रत्नों को राजधानी के संग्रहालय में रखने का आदेश दिया है। राष्ट्रपति के मुताबिक इन रत्नों से दुनिया को बताया जा सकेगा कि तंजानिया भी अमीर देश है। इससे पहले खोजा गया सबसे बड़ा रत्न 3.4 किलो का था जिसे 15 साल पहले एक माइनिंग कंपनी ने खोजा था।

तंजानिया में लाखों लोग अपने स्तर पर रत्नों के लिए खनन काम में जुड़े हैं। ये लोग किसी कंपनी के साथ काम नहीं करते और खतरों के बीच आमतौर पर हाथों और साधारण औजारों से ही खुदाई करते हैं। पिछले साल ही सरकार ने एक ट्रेडिंग सेंटर खोला है जहां लोग सीधे जाकर खुदाई में मिले रत्नों को बेच सकते हैं।

Write a comment
X