1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. डोनाल्‍ड ट्रंप ने चीन के साथ व्यापार समझौते पर फिर बातचीत से किया इनकार

डोनाल्‍ड ट्रंप ने चीन के साथ व्यापार समझौते पर फिर बातचीत से किया इनकार

अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन म्नुचिन ने चार मई को चेतावनी दी थी कि अगर चीन ने व्यापार समझौते का सम्मान नहीं किया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 12, 2020 13:31 IST
Trump not interested in renegotiating trade deal as China urges fresh talks- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

Trump not interested in renegotiating trade deal as China urges fresh talks

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि चीन के साथ व्यापार समझौते पर फिर से बातचीत शुरू करने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है। इससे एक दिन पहले अमेरिका ने बीजिंग को व्यापार युद्ध खत्म करने के लिए इस साल की शुरुआत में हुए समझौते का सम्मान नहीं करने पर बेहद गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी। ट्रंप का बयान हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की उस रिपोर्ट के संदर्भ में आया, जिसमें कहा गया था कि चीन व्यापार समझौते पर फिर से बातचीत करना चाहता है, ताकि इसे बीजिंग के अधिक अनुकूल बनाया जा सके।

इस रिपोर्ट के संबंध में ट्रंप से पूछा गया था कि क्या आप ऐसा करने के इच्छुक हैं? इस पर ट्रंप ने सोमवार को कहा नहीं। कभी भी नहीं। कुछ हद तक भी नहीं। नहीं, मुझे कोई दिलचस्पी नहीं है। हमने समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस बारे में मैंने भी सुना है। वे अपने लिए एक बेहतर समझौता बनाने के लिए व्यापार वार्ता को फिर से खोलना चाहते हैं।

ट्रंप ने कहा कि चीन कई दशकों से अमेरिका का फायदा उठा रहा था, क्योंकि उनके पूर्ववर्तियों ने ऐसा होने दिया। उन्होंने कहा कि नहीं, मुझे इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है। देखते हैं कि उन्होंने जिस समझौते पर दस्तखत किए हैं, वे उसका पालन करते हैं या नहीं।

अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन म्नुचिन ने चार मई को चेतावनी दी थी कि अगर चीन ने व्यापार समझौते का सम्मान नहीं किया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। ट्रंप पहले भी कह चुके हैं कि अगर चीन ने समझौते का सम्मान नहीं किया और कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर इसके प्रावधानों का पालन नहीं किया, तो वे इसे रद्द कर देंगे। अमेरिका और चीन के बीच जनवरी में हुए इस समझौते के तहत बीजिंग ने 2020-21 में कम से कम 200 अरब डॉलर से अधिक के अमेरिकी उत्पादों और सेवाओं की खरीद करने पर सहमति जताई थी।

Write a comment
X