1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सेंसेक्स@50000: 40 साल में 337 गुना रिटर्न, 148 रुपये आज बन गए 50 हजार रुपये

सेंसेक्स@50000: 40 साल में 337 गुना रिटर्न, 148 रुपये आज बन गए 50 हजार रुपये

मौजूदा वित्त वर्ष में सेंसेक्स अब तक दो तिहाई से ज्यादा रिटर्न दे चुका है। 31 मार्त 2020 को सेंसेक्स 29500 के करीब था। वहीं अब सेंसेक्स 50 हजार के करीब बंद हुआ। यानि पहली अप्रैल से अब तक सेंसेक्स 68 फीसदी से ज्यादा बढ़ चुका है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 21, 2021 17:02 IST
40 men में 337 गुना बढ़ा...- India TV Paisa
Photo:PTI

40 men में 337 गुना बढ़ा सेंसेक्स

नई दिल्ली। घरेलू शेयर बाजार के लिए गुरुवार ऐतिहासिक दिन रहा है। आज कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 50 हजार का मनोवैज्ञानिक स्तर छू लिया है। भले ही सेंसेक्स इस स्तर को बनाए न रख सका हो लेकिन ये रिकॉर्ड आज बन ही गया। साल 1980 से साल 2021 में अब तक सेंसेक्स में 337 गुना से ज्यादा रिटर्न मिला है। बीएसई पर दिए गए पुराने आंकड़ों के आधार पर कह सकते हैं कि 1980 में सेंसेक्स पर लगे 148 रुपये आज 50 हजार रुपये बन चुके हैं।

40 साल में 337 गुना से ज्यादा बढ़ा सेंसेक्स

बीएसई पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक साल 1980 के आखिरी कारोबारी दिन सेंसेक्स 148.25 पर बंद हुआ था। 21 जनवरी 2021 को सेंसेक्स ने 50 हजार का स्तर पार कर लिया है। यानि बीते 40 साल और करीब एक महीने में सेंसेक्स 337 गुना से ज्यादा बढ़ चुका है। यानि सेंसेक्स पर लगे हर एक हजार रुपये 3 लाख 37 हजार रुपये से ज्यादा हो चुके हैं।

कैसा रहा सेंसेक्स का बीते 40 साल में रिटर्न

अगर मौजूदा वित्त वर्ष की बात करें तो सेंसेक्स अब तक दो तिहाई से ज्यादा रिटर्न दे चुका है। 31 मार्त 2020 को सेंसेक्स 29500 के करीब था। वहीं अब सेंसेक्स 50 हजार के पार है। यानि पहली अप्रैल से अब तक सेंसेक्स 69 फीसदी बढ़ चुका है। हालांकि सेंसेक्स में सबसे तेज रिटर्न 1992 में मिला है। जब 2 अप्रैल 1992 को सेंसेक्स का बीते एक साल का रिटर्न 267 फीसदी पर पहुंच गया था। हालांकि 1992 स्टॉक मार्केट के लिए ऐसा साल था जिसे हर कोई याद नहीं रखना चाहेगा। हर्षद मेहता घोटाले का खुलासा और उसके बाद मार्केट क्रैश भी इसी साल हुए थे। इसके बाद अप्रैल 1989 में सेंसेक्स ने 82 फीसदी, अप्रैल 1994 में 63 फीसदी, अप्रैल 2004 में 86 फीसदी, अप्रैल 2006 में 75 फीसदी, अप्रैल 2010 में 79 फीसदी का सालाना रिटर्न दिया है। बीते 40 वित्त वर्ष में सेंसेक्स ने 13 बार निगेटिव रिटर्न दिया। इसमें भी सबसे ज्यादा नुकसान 1993 के दौरान दर्ज हुआ। जब सेंसेक्स स्टॉक मार्केट घोटाले के बाद एक साल में घटकर करीब आधा रह गया।

क्या रहे सेंसेक्स के मुख्य पड़ाव  

साल 1999 में सेंसेक्स ने 5000 का पड़ाव पार किया। साल 2006 में सेंसेक्स ने 10 हजार का पड़ाव पार किया, और 14 हजार के पार तक पहुंचा। साल 2007 में सेंसेक्स 20 हजार के पार पहुंच गया। 2014 में सेंसेक्स ने 25 हजार को पार किया। 30 हजार की सीमा 2017 में पार हुई। सेंसेक्स ने 40 हजार का स्तर 2019 में तोड़ा। अगले ही साल यानि 2020 में सेंसेक्स 45 हजार के पार पहुंच गया। अब जनवरी 2021 में सेंसेक्स ने 50 हजार का स्तर तोड़ा है। 

Write a comment