ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. अन्य खेल
  5. जूनियर हॉकी विश्व कप: खिताब से चूके भारत की नजरें कांस्य पदक और फ्रांस से बदला चुकता करने पर

जूनियर हॉकी विश्व कप: खिताब से चूके भारत की नजरें कांस्य पदक और फ्रांस से बदला चुकता करने पर

भारतीय टीम एफआईएच जूनियर हॉकी विश्व कप में शनिवार को कांस्य पदक के प्लेआफ में फ्रांस के खिलाफ उतरेगी तो उसका इरादा टूर्नामेंट से बैरंग लौटने से बचने के साथ ही फ्रांस से पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करने का भी होगा।

Bhasha Edited by: Bhasha
Published on: December 04, 2021 12:21 IST
Junior Hockey WC- India TV Hindi
Image Source : @THEHOCKEYINDIA Missing the title, India's eyes on bronze medal and revenge on France

Highlights

  • जूनियर हॉकी विश्व कप में शनिवार को भारतीय टीम कांस्य पदक के प्लेआफ में फ्रांस के खिलाफ उतरेगी
  • गत चैम्पियन भारत का लगातार दूसरा जूनियर विश्व कप जीतने का सपना छह बार की चैम्पियन जर्मनी ने तोड़ा
  • भारतीय टीम कांसे के तमगे के लिये फ्रांस से भिड़ेगी जिसने उसे पहले मैच में 5-4 से मात दी थी

खिताब बरकरार रखने का सपना टूटने के बाद भारतीय टीम एफआईएच जूनियर हॉकी विश्व कप में शनिवार को कांस्य पदक के प्लेआफ में फ्रांस के खिलाफ उतरेगी तो उसका इरादा टूर्नामेंट से बैरंग लौटने से बचने के साथ ही फ्रांस से पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करने का भी होगा । गत चैम्पियन भारत का लगातार दूसरा जूनियर विश्व कप जीतने का सपना छह बार की चैम्पियन जर्मनी ने तोड़ दिया और सेमीफाइनल में उसे 4-2 से हराया । जर्मनी का सामना फाइनल में अर्जेंटीना से होगा जबकि भारतीय टीम कांसे के तमगे के लिये फ्रांस से भिड़ेगी जिसने उसे पहले मैच में 5-4 से मात दी थी ।

जूनियर हॉकी विश्व कप पर कोरोना का साया, सोशल मीडिया टीम का सदस्य पाया गया पॉजिटिव

 पोडियम पर जगह हासिल करने के लिये भारतीय खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा । जर्मनी के खिलाफ टीम बिल्कुल लय में नहीं दिखी । लखनऊ में 2016 में जूनियर विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम के प्रदर्शन में निरंतरता का अभाव नजर आया । अभी तक टूर्नामेंट के किसी मैच में पूरे समय तक मेजबान टीम प्रवाहपूर्ण हॉकी नहीं खेल सकी है । कोच ग्राहम रीड जरूर इससे चिंतित होंगे, जिनके मार्गदर्शन में सीनियर पुरूष टीम ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रचा था । क्वार्टर फाइनल में बेल्जियम के खिलाफ भारतीय डिफेंस ने असाधारण कौशल का प्रदर्शन किया लेकिन जर्मनी के खिलाफ उसे दोहरा नहीं सके । यशदीप सिवाच, उपकप्तान संजय कुमार, शारदानंद तिवारी और अभिषेक लाकड़ा जर्मनी के आक्रमण को रोकने में नाकाम रहे । तीसरे स्थान पर रहने के लिये मेजबान को उनसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी ।

 कोच ग्राहम रीड ने स्वीकार किया कि जर्मनी ने उनकी टीम को हर विभाग में बौना साबित कर दिया । उन्होंने कहा ,‘‘ जर्मनी ने दिखा दिया कि हमारे डिफेंस में क्या कमियां हैं । उन्होंने एक ईकाई के रूप में अच्छे आक्रमण किये । इस स्तर पर जीतने के लिये बेसिक्स में कोई कमी नहीं होनी चाहिए । हमने मौके बनाये लेकिन वे उम्दा नहीं थे । हमें रविवार को बेहतर प्रदर्शन करके पहल मैच की हार का बदला चुकता करना है ।’  कोच ने आगे कहा ,‘‘ चतुर खिलाड़ी तुरंत फैसले लेते हैं जो हमारे खिलाड़ियों में नजर नहीं आया । मौकों का सही फायदा हम उठा ही नहीं सके ।’ साथ ही रीड ने कहा कि यहां से 65 किलोमीटर दूर पुरी में चक्रवाती तूफान के कारण भारी बारिश की आशंका है जिससे इस पिच पर खेलना कठिन होगा । 

लाइव स्कोरकार्ड

elections-2022