North Korea: कोरोना को लेकर उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग का दावा - एलियंस ने गुब्बारे में भरकर वायरस फेंका

North Korea: किम जोंग ने कहा कि उनके देश में पहला कोरोना केस भी एलियन की वजह से मिला है। उन्होंने कहा कि साउथ कोरिया से जुड़े बॉर्डर से एलियंस ने गुब्बारे में वायरस भरकर फेंका था। इसी के बाद से देश में कोरोना वायरस फैला है।

Sudhanshu Gaur Written By: Sudhanshu Gaur
Published on: July 03, 2022 9:03 IST
Kim Jong-un- India TV Hindi News
Image Source : FILE PHOTO Kim Jong-un

Highlights

  • उत्तर कोरिया ने दो साल तक किया था कोरोना वायरस से बचे रहने का दावा
  • इस साल अप्रैल में कथित तौर पर आया था कोरोना का पहला मामला
  • इसके बाद किम जोंग ने पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया था

North Korea: कोरोना वायरस की वजह से पिछले 3 सालों से दुनिया परेशान है। अभी भी दुनिय्भर में लाखों की संख्या में मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन अभी तक यह कोई नहीं बता सका कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति कहां और कैसी हुई? लेकिन कोरोना वायरस को लेकर उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ऐसा बयान दिया है, जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है। किम जोंग ने दावा किया है कि एलियन की वजह से कोरोना फैल रहा है।

एलियन को छुआ, जिससे फैला कोरोना - नार्थ कोरिया  

किम जोंग ने कहा कि उनके देश में पहला कोरोना केस भी एलियन की वजह से मिला है। उन्होंने कहा कि साउथ कोरिया से जुड़े बॉर्डर से एलियंस ने गुब्बारे में वायरस भरकर फेंका था। इसी के बाद से देश में कोरोना वायरस फैला है। दरअसल कुछ समय से नॉर्थ कोरिया में अफवाह फैली हुई है कि अप्रैल में 18 साल के एक सैनिक और 5 साल के एक बच्चे ने एक 'एलियन जैसी चीज' को छुआ था। जिसके बाद दोनों में कोरोना के लक्षण देखे गए। और उसके बाद देशभर में कोरोना के मामले सामने आने लगे।

बकवास है एलियन से कोरोना फैलने वाली थ्योरी - साउथ कोरिया 

हालांकि नार्थ कोरिया के पड़ोसी देश साउथ कोरिया ने एलियन से फैलने वाली थ्योरी को बकवास बताया है। सियोल विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर का कहना है कि किम जोंग के दावे पर विश्वास करना इसलिए भी मुश्किल है, क्योंकि वस्तुओं के जरिए वायरस फैलने की संभावना काफी कम होती है।

सरकार ने एलियन से सतर्क रहने की दी सलाह

नॉर्थ कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए के मुताबिक, सरकार ने बॉर्डर से सटे इलाकों के लिए कुछ निर्देश दिए हैं। सरकार ने कहा कि बॉर्डर के आसपास रहने वाले लोग हवा के जरिए आने वाली चीजें यानी गुब्बारों और एलियन जैसी चीजों से सतर्क रहें। अगर किसी को भी ऐसी चीज दिखाई देती है तो पुलिस को सूचना दें।

कथित तौर पर मई में मिला था कोरोना केस का पहला केस 

करीब ढाई साल तक कथित तौर पर कोरोना वायरस से बचे रहने के बाद नॉर्थ कोरिया में अप्रैल के अंत से करीब 20 लाख लोग रहस्यमयी बुखार से पीड़ित हो चुके थे। 12 मई को नॉर्थ कोरिया ने पहली बार अपने देश में कोरोना वायरस पाए जाने की घोषणा की थी। इसके बाद किम जोंग ने पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया था।

Latest World News

navratri-2022