Saturday, May 18, 2024
Advertisement

रूस के घातक मिसाइल अटैक से यूक्रेन में मच गई तबाही, 17 की मौत; 61 लोग हुए घायल

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में यूक्रेन की स्थिति कमजोर पड़ती जा रही है। रूस के ताजा मिसाइल हमलों से यूक्रेन के चेर्निहाइव शहर में तबाही मच गई है। रूसी हमले में 17 लोगों की मौत हे गई है।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Published on: April 18, 2024 6:52 IST
रूस का यूक्रेन पर हमला (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : AP रूस का यूक्रेन पर हमला (फाइल फोटो)

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को दो साल से भी अधिक का समय बीत चुका है। रूस लगातार यूक्रेन पर हमले कर रहा है। इस बीच रूस की तरफ से किए गए ताजा हमले में 17 लोगों की मौत हो गई है। रूस की तरफ से दागी गई मिसाइल उत्तरी यूक्रेन के चेर्निहाइव में आठ मंजिला इमारत पर गिरी जिसकी वजह से लोग मारे गए।  यूक्रेन की आपातकालीन सेवा ने बताया कि हमले में 3 बच्चों सहित कम से कम 61 लोग घायल हो गए। चेर्निहाइव यूक्रेन की राजधानी कीव से लगभग 150 किलोमीटर उत्तर में, रूस और बेलारूस की सीमा के पास स्थित है और इसकी आबादी लगभग ढाई लाख है। 

यूक्रेन को नहीं मिल रही मदद 

युद्ध के तीसरे वर्ष में प्रवेश करने के साथ रूस यूक्रेन में लगातार बढ़त बना रहा है। पश्चिमी देशों की तरफ से यूक्रेन को अतिरिक्त सैन्य साजो सामान मुहैया नहीं कराए जाने से रूस के खिलाफ युद्ध में उसकी स्थिति कमजोर पड़ती जा रही है। हालांकि, सर्दियों के महीनों के दौरान, रूस युद्ध के अग्रिम मोर्चे पर कोई प्रगति नहीं कर पाया। इस बीच, चेक गणराज्य के प्रधानमंत्री पेत्र फिआला ने कहा कि उनकी सरकार ने यूरोपीय संघ के बाहर के देशों से यूक्रेन के लिए तोपखाने के 5,00,000 गोले की व्यवस्था की है। हथियारों की आपूर्ति जून में होनी है।

क्या चाहते हैं यूक्रेन के राष्ट्रपति

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने पश्चिमी देशों से उनके देश को और अधिक एयर डिफेंस सिस्टम प्रदान करने का अनुरोध किया है। उन्होंने चेर्निहाइव हमले के बारे में कहा कि ‘‘अगर यूक्रेन को पर्याप्त वायु रक्षा उपकरण मिले होते और रूसी आतंक का मुकाबला करने के लिए दुनिया का दृढ़ संकल्प होता, तो ऐसा नहीं होता।’’ जेलेंस्की ने इस सप्ताह की शुरुआत में प्रसारित एक साक्षात्कार में ‘पीबीएस’ को बताया था कि मिसाइल और ड्रोन हमले से बचाव करते हुए यूक्रेन के पास वायु रक्षा मिसाइलें खत्म हो गई हैं। हाल में रूस ने हमले में यूक्रेन के सबसे बड़े बिजली संयंत्रों में से एक को नष्ट कर दिया था।

रूस बना रहा है बढ़त 

‘इंस्टीट्यूट फॉर द स्टडी ऑफ वॉर’ के अनुसार, यूक्रेन में सैन्य साजो-सामान की तेजी से किल्लत हो रही है। हाल ही में आईएसडब्ल्यू की एर रिपोर्ट सामने आई थी जिसमें कहा गया था कि यूक्रेन को अमेरिकी सैन्य सहायता के प्रावधान में देरी के कारण रूस तेजी से बढ़त बना रहा है। रिपोर्ट में कहा गया कि अमेरिकी सहायता के बिना यूक्रेन युद्ध के मैदान में ज्यादा दिन तक नहीं टिक सकता। आईएसडब्ल्यू ने कहा कि यूक्रेन को अभी सबसे ज्यादा जरूरत वायु रक्षा प्रणाली और तोपखाने की है। 

यह भी पढ़ें:

हमास और ईरान से युद्ध के बीच इजरायल की धरती पर लिखी जा रही "अबकी बार 400 पार की पटकथा", जानें BJP की रणनीति?

UAE के अलावा ओमान से पाकिस्तान तक बारिश और बाढ़ का तांडव, 82 लोगों की मौत

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement