Saturday, May 18, 2024
Advertisement

Middle East Tension: मिडिल ईस्ट में बढ़ता तनाव, अब ईराक पर एयरस्ट्राइक, इजरायल ने किया हमला?

मिडिल ईस्ट में तनाव बढ़ता जा रहा है। इजरायल और ईरान के बाद अब ईराक के मिलिट्री बेस पर जोरदार हमला किया गया है, शक की सूई इजरायल की तरफ घूमती दिख रही है। देखें हमले का वीडियो-

Edited By: Kajal Kumari @lallkajal
Published on: April 20, 2024 12:02 IST
attack on iraq military base camp- India TV Hindi
Image Source : VIDEO CROP ईराक के मिलिट्री कैंप पर हमला

इज़राइल और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के बीच मध्य इराक में उसके एक सैन्य अड्डे पर शुक्रवार की रात भर "बमबारी" की गई। अमेरिकी सेना ने हमले में किसी भी भूमिका से इनकार किया है। वहीं, इराक की फोर्स पीएमएफ ने कहा है कि उसके काल्सो मिलिट्री बेस के कमांड पोस्ट पर जबरदस्त धमाका हुआ है, जो बगदाद से मात्र 50 किलोमीटर दूर है। सूत्रों ने बताया है कि धमाके के पीछे की वजह एयरस्ट्राइक है। सुरक्षा सूत्रों ने ये भी कहा है कि इस हमले में एक पीएमएफ फाइटर की मौत हुई है, जबकि छह जवान घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, "धमाके की वजह से बेस पर मौजूद कुछ लोग घायल भी हुए हैं।" धमाके की एक टीम जांच भी कर रही है। हालांकि अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि एयरस्ट्राइक के पीछे कौन है, जिसने ये किया है। वहीं, अमेरिका की तरफ से कहा गया है कि इराक में किसी भी तरह की अमेरिकी सैन्य गतिविधि नहीं की गई है। 

हमले का देखें वीडियो

10 प्वाइंट्स में जानें अबतक के अपडेट्स

कैल्सो बेस कैंप पर हुए विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि आठ घायल हो गए हैं। एएफपी ने आंतरिक मंत्रालय ने बताया कि पूर्व ईरान समर्थक अर्धसैनिक समूह हशेद अल-शाबी बेस पर तैनात है।

हशद अल-शाबी के एक बयान में कहा गया है कि रात भर के हमले में काफी नुकसान हुआ है। यह अब इराक के सुरक्षा बलों का हिस्सा है।

एएफपी ने मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से बताया कि विस्फोट "उपकरण भंडारित करने वाले गोदामों" में हुए। हमले की जिम्मेदारी का अभी तक कोई दावा नहीं किया गया है.

अमेरिकी सेना ने सोशल मीडिया पर कहा कि उसकी सेना इस हमले में शामिल नहीं थी। इसमें कहा गया है, "हम उन रिपोर्टों से अवगत हैं जिनमें दावा किया गया है कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने आज इराक में हवाई हमले किए हैं। वे रिपोर्टें सच नहीं हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका ने आज इराक में हवाई हमले नहीं किए हैं।"

ताज़ा हमला मध्य पूर्व के दो कट्टर दुश्मनों ईरान और इज़राइल के बीच बढ़े तनाव के बीच हुआ है, जो गाजा संघर्ष के परिणामस्वरूप युद्ध के कगार पर हैं।

इस महीने की शुरुआत में, इज़राइल ने सीरिया में ईरान के दूतावास पर हमला किया, जिसमें एक शीर्ष रिवोल्यूशनरी गार्ड कमांडर सहित कम से कम 11 लोग मारे गए। जिसके जवाब में, ईरान ने इस सप्ताह की शुरुआत में इज़राइल पर एक अभूतपूर्व ड्रोन और मिसाइल हमला किया।

अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार, जैसे को तैसा की पद्धति अपनाते हुए जब इजराइल ने शुक्रवार को ईरान पर ड्रोन हमला किया और ईरान के तीसरे सबसे बड़े शहर इस्फ़हान के पास विस्फोटों की सूचना मिली, जिससे उसे कई शहरों में अपनी वायु रक्षा प्रणाली को सक्रिय करना पड़ा।

हमले में मिसाइलें दागे जाने की खबरें थीं, लेकिन ईरान ने कहा कि उन्होंने कई ड्रोन मार गिराए हैं और "फिलहाल कोई मिसाइल हमला नहीं हुआ है"।

ईरानी विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन ने एनबीसी न्यूज से बात करते हुए शुक्रवार के ड्रोन हमले को ज्यादा तवज्जो नहीं दी और कहा कि अब तक इसका इजरायल से संबंध साबित नहीं हुआ है। उन्होंने ड्रोन को "खिलौने जिनसे हमारे बच्चे खेलते हैं" भी कहा।

उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि यदि इज़राइल ईरान के हितों के खिलाफ काम करता है, तो उसकी प्रतिक्रिया तत्काल और "अधिकतम स्तर" पर होगी। उन्होंने कहा, "अगर इजराइल एक और दुस्साहस करना चाहता है और ईरान के हितों के खिलाफ काम करता है, तो हमारी अगली प्रतिक्रिया तत्काल और अधिकतम स्तर पर होगी।"

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement