Wednesday, February 28, 2024
Advertisement

दक्षिण चीन सागर में 'ड्रैगन' की दादागिरी, लगाया फ्लोटिंग बैरियर, फिलिपींस ने दिखाया आक्रोश

दक्षिण चीन सागर में अपनी अकड़ कम नहीं कर रहा है। यहां एक विवादित क्षेत्र में फ्लोटिंग बैरियर लगा दिया है। इसका मकसद समुद्री इलाके पर कब्जा करना और फिलीपींस की नौकाओं को उस क्षेत्र में प्रवेश करने से रोकना है।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: September 25, 2023 15:51 IST
दक्षिण चीन सागर में 'ड्रैगन' की दादागिरी- India TV Hindi
Image Source : FILE दक्षिण चीन सागर में 'ड्रैगन' की दादागिरी

China on South China Sea: चीन दक्षिण चीन सागर में अपनी दादागिरी कम नहीं कर रहा है। आए दिन इस इलाके में अपना दबदबा बनाने के लिए कुछ न कुछ 'करतूतें' करता रहता है। हिंद महासागर में जासूसी जहाजों के माध्यम से निगरानी करने वाला चीन दक्षिण चीन सागर के इलाके में स्थित देशों पर अपना रौब जमाता है। एक बार फिर चीन ने ऐसा ही किया है। चीन ने दक्षिण चीन सागर के विवादित क्षेत्र में फ्लोटिंग बैरियर लगा दिया है। ऐसा करके वह इस समुद्री इलाके पर अपना कब्जा जमाना चाहता है। उसका एक बड़ा मकसद फिलिपींस की नौकाओं के उस इलाके में प्रवेश से रोकना है। इस पर फिलिपींस नाराज हो गया है। नाराज फिलिपींस की नौसेना ने इस बा​त ​की पुष्टि की है कि चीनी तटरक्षक की ओर से फ्लोटिंग बैरियर लगाने की यह हरकत की गई है। 

इस मामले में मनीला के तट रक्षक और मत्स्य पालन व जलीय संसाधन ब्यूरो ने स्कारबोरो शोल के हिस्से में चीन द्वारा अवरोध स्थापित करने की कड़ी निंदा की है। फिलिपींस तट रक्षक के प्रवक्ता कमोडोर जे तारिएला ने कहा कि चीन की कार्रवाई उनके देश के मछुआरों को तट से दूर समुद्र में जाने से रोकने, उन्हें उनकी मछली पकड़ने और आजीविका गतिविधियों से वंचित कर रही है। फिलिपींस ही नहीं, वियतनाम, इंडोनेशिया जैसे अन्य देश भी दक्षिण चीन में चीन की दादागिरी से परेशान हैं। 

चीनी जहाजों ने फिलिपींस की नौकाओं को चेताया

तारिएला ने कहा कि फिलीपीन तट रक्षक इन चुनौतियों से निपटने, हमारे समुद्री अधिकारों को बनाए रखने और हमारे समुद्री डोमेन की रक्षा के लिए सभी संबंधित सरकारी एजेंसियों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेगा। मनीला में चीनी दूतावास ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी है। उन्होंने कहा कि फिलिपींस के जहाज पर मीडिया कर्मियों की मौजूदगी का एहसास होने पर चीनी नौकाओं ने 15 बार रेडियो पर चेतावनी जारी कीं और फिलीपींस के जहाज और मछुआरों पर अंतरराष्ट्रीय और चीन के कानूनों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

1 हजार फीट लंबा है फ्लोटिंग बैरियर

तारिएला ने कहा, फिलीपीन तट रक्षक और मत्स्य पालन ब्यूरो के कर्मियों ने शुक्रवार को नियमित गश्त के दौरान शोल के पास, जिसे स्थानीय रूप से बाजो डी मासिनलोक के नाम से जाना जाता है, फ्लोटिंग बैरियर की खोज की, जिसकी अनुमानित लंबाई 300 मीटर (1,000 फीट) है। उन्होंने कहा, फिलीपींस जहाज के पहुंचने पर तीन चीनी तट रक्षक कठोर पतवार वाली फुलाने योग्य नौकाओं और एक चीनी समुद्री मिलिशिया सेवा नाव ने उनके रास्ते में अवरोध डाले।

दक्षिण चीन सागर के 90 फीसदी हिस्से पर चीन करता है अपना दावा

चीन वियतनाम, मलेशिया, ब्रुनेई, इंडोनेशिया और फिलीपींस के विशेष आर्थिक क्षेत्रों के साथ ओवरलैप करते हुए, दक्षिण चीन सागर के 90% हिस्से पर दावा करता है। बीजिंग ने 2012 में स्कारबोरो शोल पर कब्जा जमा लिया था और फिलीपींस के मछुआरों को छोटी मछलियों के लिए आगे की यात्रा करने के लिए मजबूर करता है। पिछले साल से इस मामले में तनाव फिर से बढ़ गया है।

Also Read: 

पाकिस्तान: अहमदिया समुदाय की कौन लेगा सुध, अब ध्वस्त की गई 75 कब्रें, दो धार्मिक स्थल की मीनारों को भी तोड़ा

इस जगह मिला रोमन युग का 2 हजार साल साल पुराना कब्रिस्तान, दुर्लभ ताबूत ने मचाई हैरानी

जंग होगी और भीषण! अत्याधुनिक ड्रोन आर्मी तैयार कर रहा यूक्रेन, रूस के उड़ेंगे होश

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement