Wednesday, April 17, 2024
Advertisement

कोरोना से हाहाकार के बीच चीन दे रहा 'ढील', कोविड के दौरान हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ने का आदेश

चीन में कोरोना ने हाहाकार मचा रखा है। इसी बीच चीन अब तीन साल से चली आ रही जीरो कोविड पॉलिसी में ढील देने जा रहा है। इसी कड़ी में चीन ने कोविड के दौरान हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा करने का आदेश दिया है।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: January 07, 2023 20:37 IST
कोरोना से हाहाकार के बीच चीन दे रहा 'ढील'- India TV Hindi
Image Source : PTI कोरोना से हाहाकार के बीच चीन दे रहा 'ढील'

कोरोना के कहर से बुरी तरह जूझ रहा चीन तीन साल पुरानी 'जीरो कोविड नीति' को कल खत्म करने की योजना से पहले कोविड संबंधी घटनाओं को लेकर हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा करेगा। इसके लिए शनिवार को आदेश दे दिया गया है। 

देश में बड़े पैमाने पर कोरोना वायरस प्रकोप के बीच, चीन रविवार को 12 बजे से विदेशी यात्रियों पर लगीं पाबंदियां समाप्त कर देगा, यात्रा और व्यापार के लिए अपने हवाई अड्डों और बंदरगाहों को पूरी तरह से खोल देगा। प्रतिबंध हटने के बाद विदेशी यात्री बिना न्यूक्लिक एसिड टेस्ट और पृथकतावास पाबंदियों के चीन पहुंच सकते हैं। सरकार ने पिछले महीने सरकार विरोधी प्रदर्शनों के मद्देनजर अपनी कठोर जीरो-कोविड नीति में ढील दी थी, जिसके बाद चीन ओमिक्रॉन स्वरूप के कारण कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि से जूझ रहा है।

अधिकारियों का तर्क है कि ओमीक्रोन स्वरूप डेल्टा स्वरूप जितना घातक नहीं है, जिसके कारण पूरी दुनिया में बड़े पैमाने पर मौतें हुई हैं। कोविड नियमों में पूरी तरह से ढील देने से पहले, चीन सरकार ने शनिवार को कोविड से संबंधित मामलों के लिए हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा करने का आदेश दिया। 

एक सरकारी नोटिस में कहा गया है कि जब्त की गई किसी भी संपत्ति को छोड़ दिया जाए। हांगकांग से प्रकाशित होने वाले ‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ समाचार पत्र ने बताया कि आदेश में स्थानीय अदालतों, पुलिस और सीमा शुल्क विभाग को कानून के अनुसार कोविड-19 संबंधी नीति लागू करने के लिए कहा गया है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement