Tuesday, April 16, 2024
Advertisement

श्रीलंका ने जासूसी जहाज को रुकने की नहीं दी इजाजत तो भड़का चीन, जमकर सुनाया, भारत की चाल से ड्रैगन पस्त

श्रीलंका ने जासूसी जहाज को रुकने इजाजत नहीं दी तो इस पर चीन भड़क गया। चीनी रिसर्च जहाज जियांग यांग होंग 3 दक्षिण हिंद महासागर में एक्सप्लोरेशन के लिए आ रहा था। ऐसे समय में श्रीलंका ने यह फैसला लिया।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: March 01, 2024 12:15 IST
श्रीलंका ने जासूसी जहाज को रुकने की नहीं दी इजाजत तो भड़का चीन- India TV Hindi
Image Source : FILE श्रीलंका ने जासूसी जहाज को रुकने की नहीं दी इजाजत तो भड़का चीन

China Spy Ship: हिंद महासागर में चीन की 'जासूसी' बढ़ती जा रही है। ऐसे में चीनी जहाज जो रिसर्च के नाम पर आते हैं, वे श्रीलंका में रुकते रहे हैं। इन जहाजों की आमद पर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया है। भारत के इस ऐतराज पर  श्रीलंका ने चीनी जहाज को रुकने की इजाजत देने से मना कर दिया है। इस कारण से चीन नाराज है। चीन के रिसर्च जहाज 'जासूसी' करने के लिए लगातार हिंद महासागर में आवाजाही करते रहते हैं, जिन पर भारत कड़ा ऐतराज जताता रहा है। ​मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 3 जनवरी 2024 से एक साल के लिए देश के विशेष आर्थिक क्षेत्र में अध्ययन करने के लिए चीनी अनुसंधान जहाजों को रोकने का फैसला लिया गया। इस फैसले पर चीन ने श्रीलंका के प्रति असंतोष जताया है। हालांकि श्रीलंका ने सिर्फ चीन ही नहीं बल्कि सभी देशों के रिसर्च जहाजों पर रोक लगाई है। लेकिन इसका प्रभाव चीन पर ही पड़ेगा। 

भारत की सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए श्रीलंका ने लिया फैसला

चीनी रिसर्च जहाज जियांग यांग होंग 3 दक्षिण हिंद महासागर में एक्सप्लोरेशन के लिए आ रहा था। ऐसे समय में श्रीलंका ने यह फैसला लिया। जहाज आधिकारिक तौर पर चीनी प्राकृतिक संसाधन मंत्रालय के तीसरे समुद्र विज्ञान संस्थान के स्वामित्व वाला है। भारत की सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए श्रीलंका ने यह फैसला लिया था।

श्रीलंका से नाराज है चीन

चीन के अधिकारी श्रीलंका के इस फैसले से नाराज दिखे। चीनी मीडिया ने श्रीलंका से अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए जहर उगला। श्रीलंका में जहाज को रोकने की जब जगह नहीं मिली तो चीन मालदीव पहुंचा। पिछले सप्ताह चीन का जहाल मालदीव के बंदरगाह पर रुका था, जो अब मालदीव से रवाना हो चुका है। यह जहाज 4500 टन वाला है। चीन के मुताबिक जियांग यांग होंग 3 जहाज कर्मियों के रोटेशन और पुनः पूर्ति के लिए बंदरगाह पर रुका था।

चीनी जहाज हुआ वापस

मालदीव की मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 22 फरवरी को जियांग यांग होंग 3 माले में रुका था। यहां रुकने के बाद अब फिर एक बार वह मालदीव के विशेष आर्थिक क्षेत्र की सीमा पर लौट गया है। माले बंदरगाह से निकलने के दो दिन बाद भी ट्रैकिंग वेबसाइटों ने जहाज को मालदीव के हुलहुमाले द्वीप के करीब होने का संकेत दिखाया है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement