नरसंहार के लिए यूक्रेन ने रूस को बताया कसूरवार, जानिए क्या आरोप मढ़ा?

 यूक्रेन ने रूस पर नरसंहार का आरोप मढ़ा है। युद्ध अपराध का आरोप जड़ते हुए यूक्रेन व अन्य यूरोपीय देशों ने रूस पर कड़े प्रतिबंध की मांग फिर दोहराई है। 

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 04, 2022 6:47 IST
Russia Ukraine News- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Russia Ukraine News

बुका। यूक्रेन और रूस की जंग लंबी हो चली है। रूस के ताबड़तोड़ लगातार हमलों के बीच यूक्रेन भी रूस पर हमले से बाज नहीं आ रहा है। हालांकि इस जंग में यूक्रेन को काफी नुकसान हुआ है। इसी बीच यूक्रेन ने रूस पर नरसंहार का आरोप मढ़ा है। युद्ध अपराध का आरोप जड़ते हुए यूक्रेन व अन्य यूरोपीय देशों ने रूस पर कड़े प्रतिबंध की मांग फिर दोहराई है। 

सड़कों पर दिखाई दे रहे शव

यूक्रेन की राजधानी कीव से रूसी जवानों की वापसी के बाद शहर के बाहर सड़कों पर जगह-जगह लोगों के शव पड़े दिखाई दे रहे हैं, जिनमें से कुछ के हाथ बंधे हैं तो किसी के शरीर पर नजदीक से गोलियां लगने और उत्पीड़न के निशान हैं। ऐसे में, यूक्रेनी प्राधिकारियों ने रविवार को रूस पर युद्ध अपराध का आरोप लगाया।

हाल ही में 410 शव हटाए गए

बुका में शवों की तस्वीरें सामने आने के बाद यूरोपीय नेताओं ने ज्यादती की निंदा की और मॉस्को के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाए जाने की अपील की। यूक्रेन की महाभियोजक इरिना वेनेदिकतोवा ने कहा कि रूस के कब्जे से हाल में वापस लिए गए कीव क्षेत्र कस्बों से आम लोगों के 410 शव हटाए गए हैं। ‘एसोसिएटेड प्रेस’ (एपी) के पत्रकारों ने राजधानी के पश्चिमोत्तर बुका के पास विभिन्न स्थानों पर कम से कम 21 लोगों के शव देखे।

मुलाकातें हुईं, पर बात नहीं बनी

गौरतलब है कि युद्ध के बीच यूक्रेन और रूस के प्रतिनिधिमंडल कई बार आपस में मिल चुके हैं। दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल पिछले मंगलवार को इस्तांबुल में भी मिले थे। यहां कीव और चेर्निहीव पर हमले कम करने को लेकर सहमति बनी थी। लेकिन, चेर्निहीव के मेयर ने अगले दिन कहा था कि वादे के बाद भी रूस ने शहर पर हमले कम नहीं किए हैं। ब्रिटेन भी यह दावा चुका है कि रूस ने केवल अपने सैनिकों को व्यवस्थित करने के लिए वापस पीछे बुलाया है। रूस हमला कम नहीं करने वाला है। 

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन