Wednesday, April 17, 2024
Advertisement

चीनी जासूसी बैलून को मार गिराने का आदेश देने में बाइडन ने की देरी, रिपब्लिकन पार्टी ने लगाया आरोप

रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन पर आदेश देने में देरी पर सवाल उठाए हैं। रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने रविवार को चीन पर एक संदिग्ध निगरानी गुब्बारे के जरिये जानबूझकर अमेरिका के संवेदनशील सैन्य ठिकानों की जासूसी करने का आरोप लगाया।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: February 06, 2023 13:21 IST
चीनी जासूसी बैलून को मार गिराने का आदेश देने में बाइडन ने की देरी, रिपब्लिकन पार्टी ने लगाया आरोप- India TV Hindi
Image Source : PTI चीनी जासूसी बैलून को मार गिराने का आदेश देने में बाइडन ने की देरी, रिपब्लिकन पार्टी ने लगाया आरोप

China America: चीन के जासूसी बैलून को अमेरिका की मिसाइल ने मार गिराया है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के आदेश के बाद चीनी जासूी बैलून को मार गिराने की कार्रवाई की गई। लेकिन इस मामले में अब अमेरिकी राष्टपति  अपने ही 'घर' में घिर गए हैं। रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन पर आदेश देने में देरी पर सवाल उठाए हैं। रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों ने रविवार को चीन पर एक संदिग्ध निगरानी गुब्बारे के जरिये जानबूझकर अमेरिका के संवेदनशील सैन्य ठिकानों की जासूसी करने का आरोप लगाया। 

सांसदों ने कहा कि चीनी गुब्बारे के अमेरिकी हवाई क्षेत्र में ऊंचाई पर उड़ने की जानकारी मिलने के साथ ही बाइडन प्रशासन ने उसे तत्काल मार गिराने का आदेश न देकर बीजिंग को अमेरिका की खुफिया सूचनाओं तक पहुंच प्रदान की। वहीं, चीन ने अमेरिकी सेना द्वारा उसके कथित मौसम अनुसंधान गुब्बारे को मार गिराने की घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए वाशिंगटन पर अविवेकपूर्ण बल प्रयोग का आरोप लगाया।

चीन अमेरिका संबंधों में बढ़ी तल्खी

चीन के उप विदेश मंत्री शाई फेंग ने कहा कि उन्होंने ‘चीन के असैन्य मानवरहित हवाई जहाज को सैन्य बल से मार गिराने की घटना को लेकर’ अमेरिकी दूतावास में रविवार को आधिकारिक तौर पर शिकायत दर्ज कराई। अमेरिकी आसमान में चीनी गुब्बारा उड़ने की घटना ने पहले से ही तनावपूर्ण दौर से गुजर रहे चीन-अमेरिका संबंधों में तल्खी और बढ़ा दी है। 

ब्लिंकन ने स्थगित कर दी थी विदेश यात्रा

अमेरिकी सेना ने शनिवार को राष्ट्रपति जो बाइडन के निर्देश पर चीनी गुब्बारे को उस समय मार गिराया था, जब वह अटलांटिक महासागर के ऊपर से गुजर रहा था। अमेरिकी आसमान में चीनी गुब्बारा दिखने के बाद अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने शुक्रवार को अपनी बीजिंग यात्रा स्थगित कर दी थी। वहीं, चीन के रक्षा मंत्रालय ने गुब्बारे को मार गिराए जाने के बाद एक बयान जारी कर कहा था कि ‘वह इसकी प्रतिक्रिया में जरूरी कदम उठाने का अधिकार रखता है।’ 

28 जनवरी को अमेरिकी वायु रक्षा क्षेत्र में घुसा था जासूसी बैलून

प्रतिनिधि सभा की खुफिया समिति के अध्यक्ष एवं ओहायो से रिपब्लिकन सांसद माइक टर्नर ने कहा, “यह स्पष्ट रूप से चीन द्वारा सूचनाएं जुटाने और हमारे संवेदनशील मिसाइल रक्षा एवं परमाणु हथियार ठिकानों की कमान तथा नियंत्रण को विफल करने का प्रयास था। यह निश्चित तौर पर एक आपात स्थिति है, जिसे प्रशासन नहीं भांप पाया।” अमेरिका के रक्षा एवं सैन्य अधिकारियों ने बताया था कि चीनी गुब्बारा 28 जनवरी को अलेउतियन द्वीप समूह के रास्ते अमेरिकी वायु रक्षा क्षेत्र में घुसा था और अलास्का में काफी समय तक उड़ने के बाद 30 जनवरी को कनाडा के हवाई क्षेत्र में दाखिल हुआ था। 

एक फरवरी को इसने वापस अमेरिकी हवाई क्षेत्र में प्रवेश किया और उत्तरी इदाहो के ऊपर उड़ने लगा। इसी दिन व्हाइट हाउस ने कहा था कि राष्ट्रपति बाइडन को अमेरिकी हवाई क्षेत्र में चीनी गुब्बारा उड़ने की जानकारी दी गई है। सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच मैककॉनेल ने कहा, “यह बताता है कि गुब्बारे को अलास्का और कैरोलाइना के बीच कहीं भी सुरक्षित रूप से मार गिराया जा सकता था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।” 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement