1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. एजुकेशन
  4. उत्तर प्रदेश में खुलेंगे स्कूल, 16 अगस्त से शुरू होंगी 11वीं और 12वीं की कक्षाएं

उत्तर प्रदेश में खुलेंगे स्कूल, 16 अगस्त से शुरू होंगी 11वीं और 12वीं की कक्षाएं

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में स्कूलों के खोलने का फैसला किया है। योगी सरकार ने आने वाली 16 अगस्त से इंटरमीडिएट लेवल (11वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए) के स्कूलों को खोलने का फैसला किया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 02, 2021 13:50 IST
uttar pradesh school opening date announced उत्तर प्रदेश में खुलेंगे स्कूल, 16 अगस्त से शुरू होंगी 1- India TV Hindi
Image Source : PTI उत्तर प्रदेश में खुलेंगे स्कूल, 16 अगस्त से शुरू होंगी 11वीं और 12वीं की कक्षाएं

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में स्कूलों के खोलने का फैसला किया है। योगी सरकार ने आने वाली 16 अगस्त से इंटरमीडिएट लेवल (11वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए) के स्कूलों को खोलने का फैसला किया है। यूपी सरकार ने स्पष्ट किया है कि 50 फीसदी छात्र क्षमता के साथ कक्षाओं का संचालन किया जा सकता है। इसके अलावा 1 सितंबर से कॉलेज और विश्नविद्यालय खोले जा सकते हैं। राज्य सरकार ने कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को 5 अगस्त से एडमिश्न प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

यूपी सरकार ने अपने आदेश में कहा कि कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए सभी शिक्षण संस्थानों में नवीन सत्र प्रारंभ करने की तैयारी की जाए। सभी बोर्डों के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परिणाम घोषित हो चुके हैं। ऐसे में स्नातक स्तर पर दाखिले की प्रक्रिया 05 अगस्त से प्रारंभ कर दी जानी चाहिए। 

स्कूलों को दिए ये निर्देश

शिक्षण संस्थानों में अध्ययन/अध्यापन प्रारंभ होने के दृष्टिगत सैनिटाइजर, इंफ्रारेड थरमामीटर, मास्क आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी। दो गज की दूरी की अनिवार्यता के अनुरूप व्यवस्था करनी होगी और हर संस्थान में कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना होगा। आइए आपको बताते हैं योगी सरकार ने और क्या निर्देश दिए हैं।

इसके अलावा यूपी सरकार ने कहा है कि शिक्षण संस्थानों के प्रारंभ होने के साथ 18 वर्ष से अधिक आयु के विद्यार्थियों के टीकाकरण के विशेष शिविर लगाया जाना उचित होगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस संबंध में पहले से ही सभी जरूरी तैयारी कर ली जाए। सभी परिषदीय विद्यालयों में स्वच्छता/सैनीटाइजेशन कराई जाए। शौचालयों की साफ-सफाई हो। कक्षाएं भी स्वच्छ रहें। बेसिक शिक्षा विभाग से समन्वय बनाकर  ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाए।

 

Click Mania