1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. क्वीज में सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले छात्र प्रधानमंत्री के साथ चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखेंगे

क्वीज में सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले छात्र प्रधानमंत्री के साथ चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखेंगे

चंद्रयान-दो, तीन-मॉड्यूल अंतरिक्ष यान है जिसमें ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर है। इसे 22 जुलाई को प्रक्षेपित किया गया था। यह सात सितंबर को चांद की सतह पर उतरेगा।

Bhasha Bhasha
Updated on: August 26, 2019 18:04 IST
फाइल फोटो- India TV Hindi
Image Source : TWITTER फाइल फोटो

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अपने अंतरिक्ष कार्यक्रमों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए स्कूली छात्रों के वास्ते ऑनलाइन क्वीज़ (प्रश्नोत्तरी) का आयोजन कर रहा है। इस क्वीज़ में सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले छात्र बेंगलुरु में एजेंसी के मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चंद्रयान-2 के लैंडर के चांद की सतह पर उतरने के साक्षी बनेंगे।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने क्वीज़ में हिस्सा लेने के लिए छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के साथ-साथ राज्यों को भी पत्र लिखा है। चंद्रयान-दो, तीन-मॉड्यूल अंतरिक्ष यान है जिसमें ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर है। इसे 22 जुलाई को प्रक्षेपित किया गया था। यह सात सितंबर को चांद की सतह पर उतरेगा।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अंतरिक्ष कार्यक्रमों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए, इसरो एमवाईजीवोवी डॉट कॉम के साथ मिलकर एक ऑनलाइन क्वीज़ चला रहा है। सबसे ज्यादा अंक हासिल करने वाले हर राज्य और केंद्रशासित प्रदेश के कक्षा आठवीं से 10वीं के दो छात्रों को इसरो के बेंगलुरु स्थित मुख्यालय में आमंत्रित किया जाएगा जहां वे प्रधानमंत्री मोदी के साथ चंद्रयान-2 के चांद की सतह पर उतरने के साक्षी बनेंगे।

क्वीज़ में हिस्सा लेने वाले हर छात्र को भागीदारी का प्रमाण-पत्र दिया जाएगा। क्वीज़ ऑनलाइन होगा और इसमें 20 सवाल पूछे जाएंगे जिनका जवाब 10 मिनट में देना होगा। अधिकारी ने बताया कि क्वीज़ के बाद और परिणाम घोषित करने से पहले, शीर्ष अंक हासिल करने वाले छात्रों को अपने माता-पिता या अभिभावक का नाम, सरकार द्वारा जारी पहचान पत्र जिसमें निवास का पता हो तथा एक हलफनामा देना होगा जिसमें पुष्टि होगी कि वे संस्थान के छात्र हैं। उन्होंने बताया कि हलफनामे का प्रारूप सिर्फ अंतिम दौर में जगह बनाने वाले भागीदारों से ही साझा किया जाएगा।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X